चिंतन

मुआवजे के बदले अपमान क्यों? जबकि है अपमानकारी मुआवजे का स्थायी समाधान!

-डॉ. पुरुषोत्तम मीणा ‘निरंकुश’-  बलात्कारित स्त्री और मृतक की विधवा, बेटी या अन्य परिजनों को