पुस्तक समीक्षा

व्यंग्य नव लेखन में ऊँचे दर्जे का अधिकार : शिकारी का अधिकार

समीक्षक : वरिष्ठ व्यंग्यकार सुरेशकांत पिछले दिनों आयोजित तीन दिवसीय 'व्यंग्य की महापंचायत' में कई अनोखी बातें हुईं। पहली तो...

सिंहस्थ की सनातन परंपरा और अमृत की एक बूंद सी – ‘सिंहस्थ”

समीक्षक - डॉ. विकास दवे सिद्धार्थ शंकर गौतम की पुस्तक सिंहस्थ हाथों में है। 'प्रभात प्रकाशन" की अपनी गौरवशाली परंपरा...

ऊँटेश्वरी माता का महंत

मदर टैरेसा पर उठा विवाद अभी थमा भी नही है कि एक ईसाई संगठन से जुड़े कैथोलिक विश्वासी पी.बी.लोमियों की...

पुराने दिनों के गायब होते लोगों के किस्से

संजय पराते हिन्दी-साहित्य पाठकों के लिए राजेश जोशी जाना-पहचाना नाम है। वे एक साथ ही कवि-कहानीकार-आलोचक-अनुवादक-संपादक सब कुछ हैं। हाल...

मातृसत्ताक समाज और ‘वोल्गा से गंगा’– सारदा बनर्जी

राहुल सांकृत्यायन की कृति ‘वोल्गा से गंगा’ मातृसत्ताक समाज में स्त्री वर्चस्व और स्त्री सम्मान को व्यक्त करने वाली बेजोड़...

चर्च में दलित र्इसाइयों के शोषण का आर्इना है उपन्यास ‘बुधिया…….

झांसी:- नगर के जनवादी लेखक पीबी लोमियो के उपन्यास 'बुधिया एक सत्यकथा का विमोचन राजकीय संग्रहालय सभागार में एससी कुल्हारे...

छल-कपट और कुटिलता से होता है – धर्मांतरण

 आर.एल.फ्रांसिस धर्मांतरण को लेकर चर्च के पादरी हमेशा सर्तक रहते है जब भी उन पर धोखाधड़ी या लालच देकर धर्मांतरण...

24 queries in 0.396