यूपी में 4.28 लाख करोड़ का निवेश करेंगे औद्योगिक घराने

उद्योगपतियों की घोषणाओं से इंवेस्टर्स समिट चकाचैध

दो दिवसीय यूपी इंवेस्टर्स समिट का आगाज खुशनुमा रहा. देश के तमाम बड़े औद्योगिक घराने यूपी में इंवेस्ट करने के लिये उत्साहित दिखे तो इसके लिये पीएम मोदी से लेकर सीएम योगी तक औद्योगिक घरानों को लुभाने के लिये कड़ी मशक्कत करते दिखे.इंवेस्टर्स समिट का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कहीं पर भी जब परिवर्तन होता है, तो सामने दिखता है. उत्तर प्रदेश में इतने व्यापक स्तर पर इन्वेस्टर समिट होने के साथ इस इन्वेस्टर समिट में इतने निवेशकों और उद्यमियों का एकजुट होना, अपने आप में एक बड़ा परिवर्तन है. भाजपा सरकार से पहले की स्थितियों के बारे में यूपी के लोगों से बेहतर कौन जानता है. यूपी के विकास का जो माहौल आज मिला है. इसकी कभी उम्मीद नहीं थी लेकिन योगी सरकार ने जो पॉजीटिव माहौल दिया है वह काबिले तारीफ है. मोदी ने कहा कि पुरानी कहावत है,‘कोस कोस में बदले पानी सोलह कोस में वानी।’ यहां के मलिहाबाद के आम, भदोही की कालीन, बनारस की जरदोजी, फिरोजाबाद का कांच, आगरा का पेठा, कन्नौज का इत्र, काशी में भोले नाथ, अयोध्या में राम की लीला तो मथुरा की कृष्ण लीला सभी कुछ है।
इस मौके पर योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार की उपलब्धियाां गिनाते हुए कहा कि निवेश की प्रक्रियाओं को सरल बनाया गया है,जिससे एग्रो प्रोसेसिंग,एमएसएमई, आईटी,फिल्म,टूरिज्म, रेन्यूएबल एनर्जी और कई विभाग प्रगति का रास्ता खोलेगी. उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश को बीमारू राज्य की श्रेणी से बाहर निकाल एक समृद्ध राज्य बनाए जाने की कड़ी में ही इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया गया है।समिट का उद्घाटन प्रधानमंत्री मोदी ने किया.
पीएम मोदी और सीएम योगी ने भूमिका बांधी तो उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट में देशभर से लखनऊ पहुंचे नामी-गिरामी उद्योगपतियों ने भी योगी सरकार पर पूरा भरोसा जताते हुए राज्य में दिल खोल कर निवेश की घोषणा की. योगी सरकार ने अनुमान लगाया था कि कम से कम चार लाख करोड़ का निवेश आयेगा. यह आकड़ा आसानी से पार हो गया. नामचीन उद्योगपतियों ने करीब 4.28 लाख करोड़ रुपये निवेश की घोषणा की तो समिट में मौजूद प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी से लेकर तमाम जिम्मेदार लोग गद्गद हो गये। सबसे पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने 10 हजार करोड़ रुपये के निवेश का ऐलान करते हुए कहा कि यूपी के हर गांव में जियो पहुंचेगा। दिसंबर तक हर गांव को हम जियो कनेक्टिविटी से जोड़ देंगे। उन्होंने कहा मुकेश अंबानी ने कहा,‘मुझे यूपी का सेवा करने का मौका मिले, यह मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।’ मुकेश ने कहा, जियो के जरिये हम 14 हजार सीधा रोजगार यूपी में उपलब्ध कराएंगे। वहीं रिलायंस के अन्य उपक्रमों के जरिए 1 लाख से अधिक अवसर उपलब्ध होंगे।
सीएम योगी आदित्यनाथ को कर्मयोगी बताते हुए मुकेश अंबानी ने कहा, उत्तर प्रदेश का सौभाग्य है कि कर्म योगी यहां के मुख्यमंत्री हैं। यूपी आना सबकी देश भक्ति पूर्ण जिम्मेदारी है। यूपी आगे बढ़ेगा तो देश का हर कोना आगे बढ़ेगा। देश के सबसे प्रसिद्ध प्रदेश को समृद्ध प्रदेश बनाना है तो प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया का रास्ता चुनना होगा। उन्होंने कहा कि यूपी में इस समय हम जियो के जरिये 20 हजार करोड़ का निवेश कर चुके हैं। हम 10 हजार करोड़ यूपी में और निवेश अगले 3 वर्ष में करेंगे।
उद्योगपति अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने यूपी में 35 हजार करोड़ निवेश की घोषणा की। इस दौरान अडानी ने कहा,‘ अडानी ग्रुप का मिशन राष्ट्र निर्माण है जो न्यू इंडिया की अवधारणा में शामिल है। यूपी में हम विश्वस्तरीय फूड एंड एग्री पार्क बनाएंगे। यहां पर बड़ा लॉजिस्टिक पार्क भी हमारा लक्ष्य है। रोड और मेट्रो निर्माण में भी हम निवेश करेंगे। अगले 3 वर्ष में हम यूपी में 35 हजार करोड़ का निवेश करेंगे। यहां हम विश्व स्तरीय यूनिवर्सिटी और स्किल सेंटर भी स्थापित करेंगे। अडानी ग्रुप कोयला खनन, रियल स्टेट, बंदरगाह और कोल्ड स्टोरेज में निवेश करेगा। 6 लाख टन अनाज रखने के लिए कोल्ड स्टोरेज बनाए जाएंगे। अडानी ने कहा कि योगी जी जिस राज्य का नेतृत्व कर रहे हैं उसके बिना देश की प्रगति कथा नहीं लिखी जा सकती। योगी, उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था को मजबूत कर रहे है जो निवेश और सामाजिक सुरक्षा की पहली शर्त है।
बिड़ला ग्रुप के मालिक कुमार मंगलम बिड़ला ने यूपी में 25 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की। उन्होंने अपने संबोधन में कहा,‘ यूपी को इज ऑफ डूइंग बिजनेस में 7वीं रैंक की बधाई। बेहतर पॉवर सप्लाई और लैंड बैंक जैसे बुनियादी सुविधा के विकास से योगी सरकार ने निवेश के लिए बेहतर माहौल किया है। 24 हजार करोड़ का निवेश यहाँ पहले से कर रहे हैं। अगले 5 साल में हम 25 हजार करोड़ का निवेश करेंगे।’ उन्होंने कहा कि 100 गांवों में हम हेल्थ केयर और बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने में भी सहयोग करेंगे।
महिन्द्रा ऐंड महिन्द्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिन्द्रा ने बनारस में 200 करोड़ से क्लब महिंद्रा प्रॉपर्टी विकसित करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि हम यूपी में इलेक्ट्रिक व्हीकल के उत्पादन का प्लांट लगाएंगे। आनंद महिन्द्रा ने कहा,‘मेरी मां लखनऊ की आईटी कॉलेज में इतिहास की टीचर रही हैं। यहां की कहानियां सुन कर मैं बड़ा हुआ हूं। इसलिए आज लग रहा है कि मैं मुसाफिर हूं जो कई जगह भटककर घर लौट आया है।’
उधर, टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन ने तमाम गलतफहमियों को दूर करते हुए कहा,‘हम यूपी में 30 हजार क्षमता का सेंटर विकसित करेंगे। हम बनारस में आईटी सेंटर विकसित करेंगे। बड़ी चर्चा थी कि हम लखनऊ छोड़ रहे हैं। लेकिन मैं बताना चाहूंगा कि लखनऊ में टीसीएस का सेंटर बना रहेगा और इसे और मजबूत बनाएंगे।’
एस्सेल ग्रुप के मालिक सुभाष चंद्रा ने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा,’पिछली सरकार में हमने 30 हजार करोड़ का एमओयू किया था लेकिन तीन साल में महज 3 हजार करोड़ का ही निवेश हो सका। अब नई सरकार का उद्देश्य केवल एमओयू ही करना नहीं है वह उसकी कठिनाई भी दूर कर रही है। समीक्षा के बाद योगी जी ने एमओयू घटाकर 18 हजार करोड़ के कर दिए हैं जिससे उसे जमीन पर उतारा जा सके।’
अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन शोभना कामिनी ने कहा कि सीआईआई यूपी में स्किल डेवलपमेंट के लिए अपनी प्रतिबद्धता और बढ़ाएगा। उन्होंने कहा,’इसके लिए इंडस्ट्रियल हब के क्षेत्रों में 4 स्किल सेंटर खोलेंगे। प्राइमरी शिक्षा को भी मजबूत करने के लिए हम कारपोरेट पार्टनरशिप करेंगे।’ समिट में भाग लेते हुए फिक्की के रसेश शाह ने कहा,’यूपी स्किल्ड मैन पॉवर का सबसे बड़ा एक्सपॉर्टर है। यह समिट निवेशकों को निवेश की संभावनाओं का उत्तर बनेगा। यह केवल आगाज है। समिट में देश-विदेश के बड़े कारोबारियों के करीब पांच हजार प्रतिनिधियों ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई.
इससे पहले अपने संबोधन में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा,‘हमारा लक्ष्य अगले 3 साल में 40 लाख रोजगार पैदा करना है। उन्होंने बताया कि समिट में कुल 1045 एमओयू और 4.28 लाख करोड़ का निवेश हुआ है।’उन्होंने बताया कि कानून व्यव्वस्था, ऊर्जा, प्रशासनिक व्यवस्था, जागरुकता जैसी मूलभूत चीजों की आवयश्कता है और हम उसे मुहैया कराएंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: