किकी डांस चैलेंज का बुख़ार

देवेंद्रराज सुथार

इन दिनों इंटरनेट से लेकर सोशल मीडिया पर एक डांस खूब वायरल हो रहा है। यह डांस जितना मज़ेदार है, उतना ही जानलेवा भी साबित हो रहा है। दरअसल, इस डांस का नाम ”किकी डांस” बताया जा रहा है। इस डांस को यूट्यूब पर अब तक 8.2 करोड़ से अधिक लोग देख चुके हैं। वहीं सोशल मीडिया पर लोग इस डांस को पूरा करने के लिए एक-दूसरे को चैलेंज दे रहे हैं। चैलेंज के मुताबिक, लोगों को 10 किलोमीटर प्रति घंटे से चल रहे अपने वाहन से नीचे उतर कर कनाडा के रैपर ड्रेक के ”किकी डू यू लव मी” गाने पर डांस करके वापस वाहन में बैठना होता है। इस दौरान वाहन चला रहा या वाहन के अंदर बैठा एक अन्य व्यक्ति डांस कर रहे व्यक्ति का वीडियो बनाता है। इस तरह डांस का चैलेंज पूरा होता है।

दुनिया भर के लोग चाहे वे बच्चे हो, बूढ़े हो, महिलाएं हो, या फिर जवान सब इस डांस के चैलेंज को पूरा करने के लिए उत्सुक नज़र आ रहे हैं। यह जानते हुए भी कि ऐसा करना उनकी जान के लिए कितना ख़तरनाक साबित हो सकता है। दरअसल, चुनौती बन चुका यह डांस दुनिया भर की पुलिस के लिए सिरदर्द बनता जा रहा है। यूएई की पुलिस ने तो इस डांस को मानव इतिहास का सबसे ख़तरनाक डांस का करार दे दिया है। मिस्र, जॉर्डन, इंडोनेशिया, फिलिस्तीन व थाईलैंड जैसे कई देशों में इस डांस पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। वहीं स्पेन, अमेरिका, मलेशिया में इस चैलेंज से ख़तरे का अलर्ट जारी किया है। फ्लोरिडा पुलिस ने हजार डॉलर का जुर्माना लगाकर इस डांस को नहीं करने की अपने देश की जनता को नसीहत दी है। 

दुनिया के साथ-साथ इस डांस का असर भारत में भी दिखने लगा है। इस डांस ने भारत के लोगों को भी अपनी गिरफ़्त में लेना शुरू कर दिया हैं। देश के कई राज्यों में इस डांस चैलेंज को पूरा करने के चक्कर में लोग गंभीर रूप से घायल हो रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने सतर्कता का संदेश देते हुए ट्वीट किया है, ”फ्लोर पर डांस करें, न कि रोड पर। किकी चैलेंज मौज-मस्ती के लायक नहीं। दिल्ली की सड़कों को सुरक्षित रखें।” पिछले दिनों पंजाब में इसी तर्ज़ पर युवाओं ने ‘इन माय फीलिंग्स’ गाने पर डांस वीडियो बनाकर अपलोड किए। चंडीगढ़ पुलिस ने ऐसे लोगों का चालान काटने और गिरफ़्तारी तक की बात कही है। यूपी पुलिस ने भी ट्वीट में कहा है, ”डियर पेरेंट्स, किकी आपके बच्चे से प्यार करे या नहीं। लेकिन आप जरूर करते हैं। कृपया, किकी चैलेंज को छोड़कर, ज़िंदगी की हर चुनौतियों में उनके साथ खड़े रहें।”

लेकिन, इन सब बावजूद इस डांस चैलेंज को पूरा करने की पागलपंती लोगों के सिर पर इस कदर संवार है कि जाने का नाम ही नहीं ले रही है। क्षणिक आनंद के साथ सस्ती लोकप्रियता हासिल करने की आड़ में लोग भेड़चाल के रूप में अपनी जान का खतरा मौल लेने से जरा भी नहीं कतरा रहे हैं। समाज की यह कमज़ोरी ही रही है कि लोग ग़लत चीजों का जल्दी से अनुसरण करते है। इसी का फायदा उठाकर कुछ असामाजिक तत्व बड़ी मानहानि करने की ताक में लगे रहते है। फिर वह किकी डांस चैलेंज हो या ब्लू व्हेल गेम, लोगों को अपने मोहपाश में बांधकर सीधे ज़िंदगी के अंतिम स्टेशन पर ले जाने से जरा भी देरी नहीं करता है। एक ओर इस तरह चलते वाहन से उतर कर डांस करना यातायात नियमों का उल्लंघन तो है ही, दूसरी ओर वीडियो बनाकर ऐसा करने के लिए दूसरे लोगों को भी प्रेरित करना उससे भी बड़ा अपराध है।

ऐसे में भारत को इस डांस पर प्रतिबंध लगाना चाहिए। क्योंकि हम इससे पहले भी ब्लू व्हेल गेम के कारण अपने देश के कितने ही मासूमों को गंवा चुके हैं और अब किकी डांस हमारे देश के लोगों को अपना निशाना बनाए उससे पहले ”दुर्घटना से सावधानी भली” अर्थात शीघ्र कदम उठाने की आवश्यकता है। साथ ही, सरकार को विज्ञापन चलाकर ऐसा नहीं करने की चेतावनी को सार्वजनिक करने में देर नहीं करनी चाहिए।

Leave a Reply

%d bloggers like this: