जानिए कैसे रोटी के सरल उपाय/टोटके बदल देंगे आपकी किस्मत–

वैदिक सनातन संस्कृति में गाय को पहली रोटी खिलाने की परंपरा है। ऐसा करना शुभ माना गया है और शुभ फल प्राप्ति के लिए यह विशेष उपाय भी है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कुंडली से जुड़े तमाम ग्रहों के दोषों को दूर करने के लिए रोटी से जुड़े उपाय बताए गए हैं।

हमारे समाज में रोटी से सम्बंधित कुछ सरल ज्योतिषीय उपाय जो किसी भी इंसान की तकदीर बदलने में मददगार साबित होते हैं। यदि आपका समय ठीक नहीं चल रहा है या रोज कोई नई संकट या मुसीबत आ रही है या फिर जीवन में शांति नहीं है, तो इसके लिए आप एक छोटा उपाय कर इन सभी परेशानियों से मुक्ति पा सकते हैं। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. दयानन्द शास्त्री जी के अनुसार, रोटी के यह उपाय बहुत ही सरल और प्रभावी है। अगर आप समस्याओं से छुटकारा पाना चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी है यह उपाय करते समय मन में श्रद्धा होना। हर रोज गाय, कौवे, कुत्ते, भिक्षु, चींटी को रोटी देने से आपके सभी बिगड़े काम बनने लगते है। रोटी वो चीज है जिसके लिए दुनिया का हर इंसान मेहनत मजदूरी कर पैसे कमाता है, ताकि वो अपने लिए दो वक्त की रोटी का इंतजाम कर सके. जिसके लिए कई बार दोस्त भी दुश्मन बन जाते हैं। यहां तक कि लोग मरने – मारने पर उतारू हो जाते हैं। रोटी कितना कीमती है ये हर इंसान को भली – भांति पता है। हमारे समाज में इस रोटी से जुड़े कुछ लोकप्रिय उपाय भी प्रचलित हैं। हिंदू धर्म में कई लोग टोटकों पर विश्वास करते हैं और रोटी के टोटके करते हैं।

आज जानिए रोटी के कुछ सरल एवम प्रभावी टोटके जिन्हें अपनाकर आप अपने घर से नकारात्मक शक्तियों को दूर कर सकते हैं।

दिन की पहली रोटी का उपाय—
घर की रसोई में पहली रोटी सेंकने के बाद उसमें शुद्ध घी लगाकर चार टुकड़े कर लें और चारों टुकड़ों पर खीर अथवा चीनी या गुड़ रख लें। इसमें से एक को गाय को, दूसरे को कुत्ते को, तीसरे को कौवे को और चौथे को किसी भिखारी को दे दें। इस उपाय के तहत गाय को रोटी को खिलाने से पितृदोष दूर होगा, कुत्ते को रोटी खिलाने से शत्रुभय दूर होगा, कौवे को रोटी खिलाने से पितृदोष और कालसर्प दोष दूर होगा और अंतिम रोटी का टुकड़ा किसी गरीब या भूखे को भोजन के साथ खिलाने से आर्थिक कष्ट दूर होंगे और बिगड़े काम बनने लगेंगे।

शनि, राहु या केतु के दोष निवारण हेतु अपनाएं रोटी के इन चमत्कारी उपाय को–

यदि आपको शनि, राहु या केतु के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो आप रोटी का यह उपाय करें…

अगर परिवार में हमेशा लड़ाई-झगड़े का महौल रहता है तो इसे सही करने के लिए खाना बनाते समय पहली रोटी कुत्ते के लिए निकालें। ऐसा करने से परिवार का वातावरण सकारात्मक होगा।

यदि बहुत मेहनत के बावजूद आपको कार्य में सफलता नहीं मिल रही है तो आप रोटी में चीनी डालकर चीटियों को खिला दें। ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होंगी। इससे आपकी किस्मत खुल जाएगी।

अगर आपकी सास से आपके संबंध अच्छे नहीं है तो आप एक रोटी पर काले रंग की स्याही या भस्म से अपनी सास का नाम लिखें। अब इसे काले कुत्ते को खिला दें। इससे रिश्ते में सुधार आएगा।
अगर आप धन प्राप्त करना चाहते हैं तो खाना बनाते समय एक रोटी गाय के लिए निकालें। इससे घर में समृद्धि आएगी।

जो लोग ग्रह दोषों से छुटकारा पाना चाहते हैं उन्हें तीन तरह की कच्ची दाल रोटी में रखकर गाय को खिलानी चाहिए। इससे समस्याएं दूर हो जाएंगी।

अगर आप सुख-शांति पाना चाहते हैं तो एक रोटी के टुकड़े करके इन्हें मछलियों को खिला दें। ऐसा करने से आपकी तरक्की होगी।

जीवन में मान-सम्मान पाने के लिए काली चीटियों को रोटी खिलाएं। ऐसा करने से मां लक्ष्मी की आप पर कृपा होगी।

रोज रात को खाना बनाते समय जो रोटी अंत में बनती है उस पर तेल लगाकर वह रोटी किसी काले कुत्ते को दे दें। यदि काला कुत्ता न दिखाई दे तो किसी और कुत्ते को भी रोटी दी जा सकती है।

यह उपाय प्रतिदिन किया जा सकता है, यदि आप चाहे तो सप्ताह में केवल एक दिन शनिवार को भी यह उपाय कर सकते हैं। इस उपाय से कुंडली के अन्य ग्रह दोष भी शांत हो जाते हैं ।

महालक्ष्मी और कुबेर देव की विशेष कृपा के लिए यह उपाय करें –
हर रोज यह उपाय करना है। सुबह-सुबह जब भी रोटियां बनाई जाएं, उस समय पहली रोटी के चार बराबर भाग कर लें।

इनमें से एक भाग गाय को दें, दूसरा भाग काले कुत्ते को देना है, तीसरा भाग कौओं के लिए निकालना है और चौथा भाग घर के पास किसी चौराहे पर रखकर आना है।

ऐसा प्रतिदिन करें या विशेष मुहूर्त या पर्व-त्योहार पर करें।

महालक्ष्मी कुबेर के इस उपाय से आपकी आर्थिक स्थिती में तुरंत सुधार होने लगेगा

यदि घर परिवार का कोई सदस्य बीमार हो–

यदि घर में कोई न कोई सदस्य हमेशा बीमार रहता है तो रोटी बनाते समय यह उपाय प्रतिदिन करें।

जब भी रोटियां बनाई जाएं तब रोटी सेंकने से पहले तवे पर दूध के कुछ छींटे डाल देना चाहिए।
इस उपाय से आपके घर से बीमारियां दूर हो जाएंगी और सभी सदस्यों को स्वास्थ्य संबंधी लाभ प्राप्त होने लगेंगे।

यदि किसी व्यक्ति को बार-बार स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां आती हैं और इससे धन की भी हानि हो रही है तो रोटी का यह उपाय करें

प्रतिदिन सुबह के समय में दो रोटी लेकर उसमें गुड़ रखें और इसके बाद यह रोटियां संबंधित व्यक्ति के सिर से पैर तक 7 बार या 11 बार या 13 बार वार लें। इसके बाद यह रोटियां किसी कुत्ते को खिला दें। ऐसा करने पर बहुत ही जल्द सकारात्मक फल प्राप्त होने लगेंगे। इस उपाय से बुरी नजर भी उतर जाती है

हिन्दी पंचांग के अनुसार हर माह में अमावस्या आती है और इस दिन रोटी का यह उपाय करें…

इस उपाय में अमावस्या के दिन चावल की खीर बनाकर उसमें रोटी चूर लें और यह कौओं के लिए घर की छत पर रख दें। इस उपाय से आपके घर में रहने वाले सदस्यों पर पितृ देवताओं की विशेष कृपा होगी। पितर देवता की कृपा से ही धन संबंधी कार्यों में भी विशेष सफलता प्राप्त होती है।

इस उपाय से दूर होगा राहू की तकलीफ—
यदि तमाम प्रयासों के बावजूद सफलता आपके हाथ नहीं लग रही है तो आप के लिए रोटी का यह उपाय वरदान साबित हो सकता है। काम में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए रोटी और चीनी को मिलाकर छोटे-छोटे टुकड़े चीटियों के खाने के लिए उनके बिल के आस-पास डालें। इस उपाय से आपकी बाधाएं धीरे-धीरे दूर होने लगेंगी।

घर की सुख-शांति के लिए–
यदि आपके घर के समन्वय और प्यार को किसी की नजर लग गई है और आए दिन परिजनों में लड़ाई झगड़ा होता रहता है तो आप रोटी से जुड़े चमत्कारी उपाय को जरूर अपनाकर देखें। दोपहर के समय जब आप अपनी रसोई में पहली रोटी सेंके तो उसे गाय के लिए और अंतिम रोटी कुत्ते के लिए जरूर निकाल लें। और उसे भोजन से पूर्व गाय और कुत्ते को खिलाने का प्रयास करें। यदि ये न संभव हो तो बाद में उसे खिला दें।

रात की अंतिम रोटी का उपाय—
यदि आपके जीवन में शनि ने फैला रखी हो सनसनी या फिर काम में राहु-केतु अटका रहे हों रोड़ा तो रोटी का उपाय आपके लिए रामबाण साबित हो सकता है। इन सभी ग्रहों की अशुभता को दूर करने के लिए रात के समय बनाई जाने वाली अंतिम रोटी पर सरसों का तेल लगाकार काले कुत्ते को खाने के लिए दें। यदि काला कुत्ता न खाए या न उपलब्ध हो तो किसी दूसरे कुत्ते को खिलाकर इस उपाय को कर सकते हैं।

इनको अवश्य खिलाएं रोटी—
हमारे यहां अतिथि को देवता के समान माना गया है फिर वो रसूख वाला हो या फिर एक आम आदमी। यदि कोई निर्धन या भिखारी आपके घर आए तो आप उसे यथासंभव भोजन जरूर कराने का प्रयास करें। इसी प्रकार यदि भोजन के समय आपके यहां आए या जाने लगे तो उसे रोटी जरूर खिलाएं।

इस तरह अपनाएं रोटी के सरल एवम प्रभावी टोटके—

  1. सुबह जब घर में भोजन बने तो सबसे पहले वाली रोटी अलग निकाल लें। इस बात का ध्यान रखें कि ये रोटी अन्य रोटियों से थोड़ी बड़ी हो ताकि आसानी से इसके चार टुकड़े किए जा सकें।
  2. अब इस रोटी के बराबरी से चार टुकड़े कर लें और इन चारों पर कुछ मीठा जैसे- खीर, गुड़ या शक्कर रख दें। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि बाहर का कोई व्यक्ति आपको यह टोटका करते हुए न देख पाए।
  3. रोटी के चार टुकड़ों में से सबसे पहला वाला गाय को खिला दें और भगवान से प्रार्थना करें कि आपकी समस्याओं का निदान जल्दी से जल्दी हो जाए और आपकी मनोकामना पूरी हो। धर्म ग्रंथों के अनुसार, गाय में ही सभी देवताओं का निवास होता है इसलिए सबसे पहले रोटी गाय को ही दी जाती है।
  4. अब दूसरा टुकड़ा कुत्ते को खिला दें। शिवमहापुराण के अनुसार कुत्ते को रोटी खिलाते समय बोलना चाहिए कि- यमराज के मार्ग का अनुसरण करने वाले जो श्याम और शबल नाम के दो कुत्ते हैं, मैं उनके लिए यह अन्न का भाग देता हूं। वे इस बलि (भोजन) को ग्रहण करें। इसे कुक्कर बलि कहते हैं।
  5. अब रोटी के तीसरे भाग को कौओं को खिला दें और बोलें- पश्चिम, वायव्य, दक्षिण और नैऋत्य दिशा में रहने वाले जो पुण्यकर्मा कौए हैं, वे मेरी इस दी हुई बलि को ग्रहण करें। धर्म ग्रंथों में इसे काक बलि कहते हैं।
  6. अब रोटी का अंतिम टुकड़ा जो बचा है उसे घर पर आए किसी भिक्षुक (भिखारी) को दे दें।जब भाग्य न दे साथ तब अपनाएं यह टोटका—
    कभी-कभी न चाहते हुए भी जीवन में बहुत संघर्ष करना पड़ता है। भाग्य साथ ही नहीं देता है, बल्कि दुर्भाग्य निरन्तर पीछा करता रहता है। दुर्भाग्य से बचने के लिए या दुर्भाग्य नाश के लिए यहां एक अनुभूत टोटका बता रहे हैं। इसका बिना शंका के मन से पूर्ण आस्था के साथ करने से दुर्भाग्य का नाश होकर सौभाग्य वृद्धि होती है।
    सूर्योदय के बाद और सूर्यास्त से पहले इस टोटके को करना है। एक रोटी लें। इस रोटी को अपने ऊपर से 31 बार ऊवार लें। प्रत्येक बार वारते समय इस मन्त्र का उच्चारण भी करें।

“ऊँ दुभाग्यनाशिनी दुं दुर्गाय नम:”

– बाद में रोटी को कुत्ते को खिला दें अथवा बहते पानी में बहा दें।
– यह अद्भुत प्रयोग है। इसके बाद आप देखेंगे कि किस्मत के दरवाजे आपके लिए खुल गए हैं। बिना शंका के इस प्रयोग को मन से करने से शीघ्र लाभ होता है।
।।शुभमस्तु।।

Leave a Reply

27 queries in 0.351
%d bloggers like this: