लेखक परिचय

अन्नपूर्णा मित्तल

अन्नपूर्णा मित्तल

एक उभरती हुई पत्रकार. वेब मीडिया की ओर विशेष रुझान. नए - नए विषयों के लेखन में सक्रिय. वर्तमान में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में परस्नातक कर रही हैं. समाज के लिए कुछ नया करने को इच्छित.

Posted On by &filed under खान-पान.


सामग्री (Ingredients)

500 ग्राम मैदा (500gm maida)

150 ग्राम तेल (150gm oil)

एक छोटी चम्मच जीरा (1 small spoon cumin)

काली मिर्च (black pepper)

1 छोटी चम्मच अजवायन (1 small spoon lovage seeds)

100 ग्राम हरा धनियां (100gm Coriander leaves)

स्वादानुसार नमक (salt to taste)

तलने के लिये तेल (oil to fry)

 

विधि – (process)

हरे धनिये को साफ कीजिये, धोइये और बारीक काट लीजिये। मैदा को किसी बर्तन में छान कर निकाल लीजिये। नमक, जीरा, अजवायन, काली मिर्च, कतरा हुआ हरा धनियां और तेल डाल कर अच्छी तरह मिलाइये। धनियां को पीस कर भी मिला सकते हैं, पीस कर बनाने में स्वाद तो लगभग एक ही रहता है लेकिन मठरी के रंग में गहरा और अलग हो जाता है। आटे की मात्रा का चौथाई पानी लीजिये (आधा कप से थोड़ा ज्यादा पानी लेकर), पानी को हल्का गुनगुना कीजिये, गुनगुने पानी की सहायता से सख्त आटा गूथ लीजिये। गुथे हुए आटे को सैट करने के लिये 20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये।

आटा सैट हो गया है, मठरी बनाना शुरू करते हैं। गुथे हुये आटे से बराबर की छोटी छोटी लोइयां बना लीजिये, एक लोई उठाइये, हथेली पर रखिये और दूसरे हाथ से दबा कर बड़ा लीजिये, अधिक पतला मत कीजिये। सारी लोइयों को इसी तरह दबा कर मठरी तैयार कर लीजिये।

कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, गरम तेल में 10-15 जितनी भी मठरी आ सके, डालिये, मीडियम और धीमी गैस प्लेम पर मठरियां ब्राउन होने तक तल लीजिये। सादा मठरी की अपेक्षा इन मठरियों के तलने में समय अधिक लगता है, एक बार की मठरी तलने में 12 – 14 मिनिट तक लग जाते हैं। तली हुई मठरियां निकाल कर थाली या प्लेट पर रखिये। बची हुई मठरियां फिर से डालिये और तलिये, सारी मठरियां तल कर इसी तरह तैयार कर लीजिये। अधिक स्वाद के लिये घर का बना हुआ चाट मसाला मठरियों के ऊपर डालकर मिला दीजिये।

 

परोसने का तरीका (process of serving) – आप इन्हें चाय के साथ खा सकते हैं हैं, बची हुई मठरियां ठंडी होने के बाद, एअरटाइट कन्टेनर में भर कर रख लीजिये, जब भी आपका स्नेक्स खाने का मन हो, डिब्बे से ये धनियां खस्ता मठरियां निकालिये और गरमा गरम चाय के साथ खाइये। ये मठरियां आप 2 महिने भी रख कर खाइये हमेशा ही स्वादिष्ट लगेंगी।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *