मेरी बिटिया रानी

मेरे घर जन्‍मी मेरी बिटिया,

जैसे कोई नन्‍ही सी परी हो।

छोटी सी प्‍यारी मेरी बिटिया

जैसे गुड़िया कोई फूल सी हो।

दिल की सच्‍ची मेरी बिटिया

सबसे बातें करती न्‍यारी न्‍यारी।

तुतलाती कोमल हाथों वाली,

दिल चुराती बिटिया मेरी प्‍यारी।

गिरती सँभलती, नन्‍हें पैरों वाली

ऊगली मम्‍मी की थामे मेरी बिटिया।

दादा दादी ओर मम्‍मी की है दुनिया सारी

पापा की है राजदुलारी, मेरी बिटिया रानी।

हुई घर में सयानी , भाईयों की अभिमानी

बातों में सबकी नानी, मेरी बिटिया रानी।

खिलाये वही जो सबको भाये, बेटी हुई स्‍वाभिमानी।

पीव पराये घर जब , बिटिया लेखा जायेगी

तब मम्‍मी पापा को, वह बहुत रूलायेगी ।

आँखों में होंगे खुशी के आँसू, ऐसा नेह लगायेगी

देंगे सुखमय जीवन का सब आशीष, सुन मेरी बिटिया रानी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: