आत्माराम यादव पीव

स्वतंत्र लेखक एवं व्यंगकार

300 सालों से लोकगीतों में जीवित है कृष्ण भक्त चदसखी

आत्माराम यादव पीव       हिन्दी साहित्यकारों में जितनी प्रसिद्धि कबीर, तुलसी, मीरा,रसखान आदि को प्राप्त है वहीं लोक-गीतकारों में उतनी ही प्रसिद्धि ’’चदसखी’’ को...

नर्मदा के प्रबलवेग को अपने कमण्डल में भरने वाले योगी-देवदूत आदिशंकराचार्य

शंकराचार्य जयंती पर विशेष- आत्माराम यादव पीव       आदिशंकराचार्य जी के विषय में कुछ भी लिखना मुझ जैसे व्यक्ति के...

कोरोना दवाओं को पेटेंट से मुक्त रखा जाएगा तभी बच सकेगा इंसान !

आत्माराम यादव पीव विश्वव्यापी महामारी कोरोना ने पूरी दुनिया में 35 लाख ओर भारत में ढाईं लाख लोगों को असमय...

राधाकृष्ण की ललित लीलाओं ने दिया आधुनिक धार्मिक चित्रों को जन्म

आत्माराम यादव पीवग्यारहवी ईसवी शताब्दि के आसपास के समय पहली बार मंचों से खेला गया रंगमंच या नाट्य के महाअभिनेता...

कलेक्टर की नौकरी छोड़ पत्रकार बने हरिबिष्णु कामथ को महात्मागांधी ने दिया इंटरव्यू

आत्माराम यादव पीव होशंगाबाद नरसिहपुर संसदीय क्षैत्र में 4 बार सांसद चुने गए हरिविष्णु कामथ को यहा के लोग प्रेम...

जब ‘‘धूनीवाला रायट केस’’ 2 साल होशंगाबाद में रहकर जीते थे हरिहरानन्द छोटे दादाजी

आत्माराम यादव पीव होशंगाबाद का नाम परमहंस स्वामी हरीहरानन्द छोटे दादा जी जिन्हे भक्त श्रीहरिहर भोले भगवान के नाम से...

जब अपने सृष्टा कवियों से दुखी हो कविताओं ने की सामूहिक आत्महत्या

आत्माराम यादव पीव विश्व के तमाम देश के कवि अपना दिमाग लगाकर जितनी कविताए एक साल में लिखते है, उतनी...

17 queries in 0.366