Home ज्योतिष मेष राशी

मेष राशी

मेष राशी (चू, चे, चो, ला ,ली ,लू, ले, लो अ) का राशिफल(2012 )—-

2012 का यह राशिफल चन्द्र राशि आधारित है और वैदिक ज्‍योतिष के सिद्धान्‍तों के आधार पर तैयार किया गया है।

इस वर्ष नए कारोबार करने के लिए इच्छा शक्ति पैदा होगी.साथ ही किसी उद्योग के लिए भूमि,भवन,धन और पूंजी सहजता प्राप्त होही..नोकरी या संस्थागत कार्य करने वाले लोगों के लिए यह वर्ष काफी महत्वपूर्ण साबित होगा..पदोन्नति या रुके हुए धन की वापसी की प्रबल संभावना हें…छोटे एवं मंझले व्यापारी वर्ग के लिए दुकान,शोरुम,मकान और किसी ब्रांड के शोरुम मिलने/खुलने की होने के योग बन रहे हें…घर में कोई शुभ मांगलिक कार्य भी संभावना हें ..क्रोध/आवेश पर नियंत्रण रखें..वर्ष के मध्य में वाहन चलते समय सावधानी रखें..अधिक तनाव और काम के बोझ से खुद को बचाएं..परिवार को पर्याप्त समय दीजियेगा..अपनी खानेपीने की आदतों पर काबू रखें. याद रखिये दोस्‍तों के बिना कामयाबी मिल पाना आसान नहीं, इसलिए उनसे अच्‍छे संबंध बनाए रखें

इस वर्ष मेष राशी पर देव गुरु वृहस्पति भ्रमण करेंगे..मंगल पंचम से वर्षात से अष्टम भाव तक भ्रमण करने के अतिरिक्त वृहस्पति मई में धन/कोष भाव में जायेंगे..राहू अष्टम भावस्थ होगा..और साथ ही शनिदेव सप्तम भाव से विचरण करते हुए मई से अगस्त तक शत्रु भाव में प्रस्थान करेंगे… देव आराधना करें, इसलिए न केवल आपका मन शांत होगा, बल्कि आने वाले कष्‍ट भी परेशान नहीं करेंगे.

स्वास्थ्य —-इस वर्ष आपका स्वास्थ राहू के कारण प्रभावित रहेगा .सेहत का खास ख्‍याल रखने की जरूरत है. .इस कारण पेट,पाचनतंत्र.,गेस ट्रबल,आंत प्रभावित रहेंगे..साथ ही शनि के कारण जोड़ों का या फिर घुटनों का दर्द भी रह सकता हें..वाहन से दुर्घटना की सम्भावना भी बनती हें..योग और व्यायाम करते रहें..

ये करें उपाय—

01 .–मछली को आटा खिलाएं…

02 .–चींटियों को शक्कर का बुरा डालें..

03 .–परामर्श लेकर गोमेद रत्न धारण भी लाभदायक रहेगा…

04 .–बजरंग बाण का पाठ करें..

05 .–शनिवार के दिन उपवास रखें ..केवल पानी का ही प्रयोग करें..

06 .–संभव हो तो शनिवार के दिन दस मुखी हनुमान जी की सेवा,पूजा एवं आराधना करें…

07 .–किसी अंगहीन व्यक्ति को सत्ताईस मंगलवार तक मीठा भिजन करवाएं..

08 .–मसूर दाल,रेवड़ियाँ,लाल वस्त्र और लाल वस्तु का दान करें ..किसी नवयुवक को..

09 .– उपासना– गणेश,भेरव,महांकाल साधना,और श्वेतार्क गणपति सेवा,पूजा आराधना से लाभ होगा…j

वास्तु और मेष राशी के जातक–इस राशी वालों के लिए इशान(उत्तर-पूर्व ) दिशा ठीक रहती हें निवास करने के लिए..शुभ और लाभदायक साबित होती हें..इस राशी वालों को अपने मकान/आवास पर मुन्गिया लाल रंग का प्रयोग करना चाहिए..इस राशी वाले जातक किसी भी नगर के उत्तरी हिस्से में निवास करने से बचाएं..

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here