यूपी में योगी राज से मुस्लिम खुश. ….

.पिछले दिनो योगी जी द़ारा गरीब मुस्लिम लड़कियों की शादी के लिए दिए जाने वाले अनुदान के सही इस्तेमाल के लिए अनूठी योजना बनाई है. सद्भावना मंडप नाम से ये योजना केंद्र सरकार की मदद से यूपी सरकार प्रदेश के हर जिले में अमल में लाएगी. अल्पसंख्यक विभाग की समीक्षा बैठक में योगी आदित्यनाथ ने इस योजना को मंजूरी दी. इसके लिए खाका तैयार किया जा रहा है.

शादाब जफर शादाब

उत्तर प्रदेश में  जब से भाजपा की सरकार बनी है और माननीय योगी आदित्यनाथ जी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है प्रदेश में  भाजपा और कट्टरवाद के मायने ही बदल गये है. बरसो से मुस्लिमो को भाजपा का डर दिखा कर सत्ता खुख भोग चुके कांग्रेस,सपा,बसपा चंद दिनो मै ही हाशिये पर आ गये. आज मुस्लिम भाजपा के चंद दिनो के शासन मै खुद को महफूज़ समझने के साथ ही अपनी बहू बेटियो की इज्जतो को भी महफूज समझ रहा है. क्यो कि मुख्यमंत्री की शपथ लेने के बाद जिस प्रकार से अल्पसंख्यकों के कल्याण के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने बड़े कदम उठाये है. मीट बंदी से कुछ मुस्लिम समाज नाराज़ जरूर हुआ था मगर योगी जी ने अवैध बुचरखानो को बंद करने व गरीब मीट व्यापारियो को राहत देने के बाद कुछ दिनो मै सब सामान्य हो गया.पिछले दिनो योगी जी द़ारा गरीब मुस्लिम लड़कियों की शादी के लिए दिए जाने वाले अनुदान के सही इस्तेमाल के लिए अनूठी योजना बनाई है. सद्भावना मंडप नाम से ये योजना केंद्र सरकार की मदद से यूपी सरकार प्रदेश के हर जिले में अमल में लाएगी. अल्पसंख्यक विभाग की समीक्षा बैठक में योगी आदित्यनाथ ने इस योजना को मंजूरी दी. इसके लिए खाका तैयार किया जा रहा है.

‘सबका साथ, सबका विकास’ के वादे की दिशा में अल्पसंख्यक कल्याण को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बड़ी गंभीरता से ले रहे हैं. वही योगी सरकार ने इस संदर्भ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मिशन के मद्देनजर रोडमैप तैयार किया है.
ये सद्भावना मंडप सामूहिक कार्यक्रमों में गरीब मुस्लिम लड़कियों की शादी कराएगा. पिछले दिनो एक मीटिग के दौरान मोहसिन रजा जी से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने पूछा कि गरीब मुस्लिम लडकियो की सामूहिक शादियां कराने का विचार कैसा रहेगा. मोहसिन रजा के मुताबिक मुख्यमंत्री मुस्लिम रीतिरिवाजों की भी अच्छे जानकारी रखते हैं, इसलिए उन्होंने ये भी कहा कि मुस्लिमों में दहेज जैसा कुछ नहीं होता. मोहसिन रजा के मुताबिक उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि मुस्लिम समाज के लिए सामूहिक शादियों का विचार बहुत कारगर रहेगा. एक साथ शादियां होंगी तो जो अनुदान दिया जाता है, उसमें जो पैसा बचेगा, उससे लड़कियों को घर का चूल्हा-चौका का सामान, बेड, अलमारी जैसा जरूरत का सामान देने पर खर्च किया जा सकेगा.

मुख्यमंत्रीकी योजना सद्भभावना मंडप की मदद से जो अशिक्षित बच्चे-बच्चियां हैं, उन्हें कौशल विकास, हैडीक्राफ्ट जैसी ट्रेनिंग भी दी जाएगी, जिससे वो रोजगार हासिल कर मुख्य धारा में जुड़ सकें. जो बच्चियां पढ़ना चाहती हैं, उसका भी इंतजाम किया जाएगा.
योगी सरकार शुरू में यूपी के हर जिले में सामूहिक समारोह में 100 शादियां कराने की दिशा में कदम बढ़ा रही है. अगर इस योजना को अच्छी प्रतिक्रिया मिलती है तो हर 6 महीने में ऐसे आयोजन होंगे.

एक दूसरी योजना के तहत योगी सरकार ने बीपीएल वर्ग परिवारों में दो पुत्रियों की शादी के लिए 20,000 रुपए दिए जाने के प्रस्ताव को भी हरी झंडी दी है.

तीन तलाक पर राज्य सरकार रखेगी मजबूत पक्ष

मुख्यमंत्री योगी जी तीन तलाक पर भी गंम्भीर नज़र आ रहे है यूपी सरकार की ओर से एक कमेटी का गठन हुआ है जिसमें रीता बहुगुणा जोशी मोहसिन रजा और बाकी महिला मंत्री शामिल है. ये कमेटी संबंधित महिला संगठनों से भी राय लें, इसके अलावा तमाम पीड़ित मुस्लिम महिलाओं से भी चर्चा करें. उच्च न्यायालय में होने वाली सुनवाई में राज्य सरकार भी अपना मजबूत पक्ष रखना चाहती है.
मदरसों के अधुनिकरण को लेकर बड़ा कदम

मुस्लिम छात्रों के भविष्य को लेकर सरकार गंभीर दिखना चाहती है. समीक्षा बैठक में योगी ने खासतौर से मुस्लिम छात्रों को मुख्यधारा में शामिल करने के लिए मदरसों के आधुनिकरण पर जोर दिया. उत्तर प्रदेश के 19,213 मदरसों का आधुनिकरण होगा. मदरसों के आधुनिकरण के लिए पाठ्यक्रम में बदलाव होगा. हिंदी अंग्रेजी गणित और विज्ञान पढ़ाया जाएगा. इसके संदर्भ में जल्द बैठक बुलाई जाएगी. पुराने मदरसों के आधुनिकरण के लिए ये बैठक होगी. जब तक ये प्रक्रिया पूरी नहीं होती तब तक नए मदरसों को नहीं मिलेगी मान्यता.

छात्रों के खाते होंगे आधार से लिंक

उत्तर प्रदेश के मदरसों में छात्रों को मिल रही है सरकार से मदद को अब आधार से जोड़ा जाएगा. कक्षा एक से पांच तक के छात्र को मिलते है 1,000 रूपये, छठी से आठवीं तक के बच्चों को मिलते है 4,000 रूपये, और नौवीं से दसवीं के बच्चों को मिलते हैं 6,000 रूपये. अब सभी छात्रों के खातों को आधार से जोड़ा जाएगा. उत्तर प्रदेश में 6,87,728 छात्रों को मदद दी जाती है, 3,46,177 को धनराशि मिल चुकी है. अब सभी छात्रों को मिल रही धनराशि को आधार से जोड़ाकर भुगतान किया जाएगा.

हज यात्रा पर सीएम की नज़र

जुलाई में हज यात्रा शुरू हो जाएगी. CM चाहते हैं हज यात्रीयों को पर्याप्त सुविधाएं मुहैया कराई जाए. हाजियों को बेहतर सुविधा देने के लिए सीएम ने संबंधित मंत्री को सुविधाओं का जायज़ा लेने के निर्देश दिए है. लखनऊ में स्थित हज हाउस में दी जाएगी सारी सुविधाएं.

वक़्फ़ में हुए घपलों की जांच

सीएम ने वक्फ बोर्ड में हो रहे भ्रष्टाचार पर नकेल कसने के लिए सकती करने के आदेश दिए हैं. सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड ने पहले ही जांच की मांग की है. जिसकी मंज़ूरी राज्य सरकार ने दे दी है. बोर्ड के तहत ली गई जमीन और उन की बिक्री की विस्तार में होगी जांच.

Leave a Reply

%d bloggers like this: