लेखक परिचय

रवि श्रीवास्तव

रवि श्रीवास्तव

स्वतंत्र वेब लेखक व ब्लॉगर

Posted On by &filed under राजनीति.


-रवि विनोद श्रीवास्तव-

Arvind-kejriwalआप (आम आदमी पार्टी) का विवादों से बहुत पुराना नाता है। एक न एक विवाद में ये फसें ही रहते हैं। अभी हाल में कानून मंत्री जितेद्र सिंह पर उनकी डिग्री फर्जी होने का आरोप लगा था। जिसे लेकर विपक्ष ने जमकर हंगामा काटा। मीडिया में काफी चर्चा रही। फिर एक नया मामला सामने आ गया। इस बार आरोप आम आदमी पार्टी की महिला कार्यकर्ता का कथित तौर पर कुमार विश्वास से अवैध संबन्ध का है। जिसे लेकर काफी हंगामा हो रहा है। महिला कार्यकर्ता कह रही हैं कि ये पूरी तरह से अफवाह है। इस अफवाह की वजह से उसकी पूरी जिंदगी बर्बाद हो रही है। महिला पति ने उसे घर से निकाल दिया है। उस महिला ने कुमार विश्वास की पत्नी पर संबंधों को लेकर अफवाह फैलाने का आरोप भी लगाया गया है। साथ ही कहा कि कुमार विश्वास इसपर पूरी तरह सफाई दे। ताकि उसकी जिदंगी बर्बाद होने से बच जाए। जब महिला ने मीडिया के सामने बयान दिया तो उसका कहना था कि उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही है। ये वही पार्टी है जो महिलाओं की सुरक्षा और हितों के लिए बात करती रहती है। लेकिन आज इस मामले ने झकझोर कर रख दिया है। आखिर किस पर विश्वास किया जाए। एक तरफ महिला न्याय के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री का दरवाजा भी खटखटया पर नतीजा शून्य था। आप नेता कुमार विश्वास से मिलने घर गई वहां भी वो नहीं मिल पाई। इस पूरे प्रकरण में महिला आयोग से नोटिस भी जारी होने की बात हुई। महिला का कहना है कि जिस तरह से सोशल मीडिया पर बदनाम करने की उसे कोशिश की जा रही है, उसकी सार्वजनिक तौर पर कुमार विश्वास खण्डन करे। बात भी सही है अगर आप ने कोई गलती नहीं की तो डर किस बात का है। मैंने ऐसा कुछ नहीं किया कहने में क्या बुराई है। महिला आयोग के नोटिस को लेकर मीडिया ने जब बात की तो, इतना गम्भीर अपने आप को रखने वाले विश्वास भी झल्ला उठे। मीडिया से पूंछ लिया कि आप के घर में मां बहन नहींं हैं क्या? वाह क्या बात है। आप कह रहे हैं कि आरोप लगाया जा रहा है तो खंडन कर दो आरोपों का। इसमें मीडिया पर क्यों भड़क रहो हो साहब। मीडिया ने क्या बिगाड़ा है। महिला के अनुसार, तो इस धुएं की शुरूआत तो आप के घर से हुई है। आप की पत्नी ने ये आरोप लगाया है। फिर एक नया वीडियो सामने आया जिसमें मीडिया से बात करने से पहले एक व्यक्ति उसको समझा रहा है कि क्या बोलना है। इस मामले को लेकर पार्टी प्रवक्ता संजय सिंह ने अपने नेता के बचाव में पत्रकार वार्ता में कहा यह आरोप पूरी तरह से फर्जी और बेबुनियाद है। इस आरोप का कोई आधार नहींं है, कृपया हमारे परिवारों को बख्श दें। तो यही बात वह महिला भी कह रही है। कि ये बेबुनियाद है, इस पर सफाई दे और मेरे परिवार को टूटने से बचाएं। खैर इस मामले में राजनीतिक पार्टियां अपनी रोटियां सेकने लग गई हैं। आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं। हर जगह विश्वास और पार्टी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। महिला का आरोप है कि उसे लगातार धमकी मिल रही हैं। आप नेता कुमार विश्वास ने सफाई देते हुए कहा कि उनके खिलाफ साजिश रची गई है और यह सब उन्हें और आम आदमी पार्टी को बदनाम करने के लिए किया जा रहा है। लेकिन महिला विश्वास की पत्नी पर आरोप लगा रही हैं। ये माजरा तो घहराता जा रहा हैं कि अब आखिर किसपर विश्वास करें।

One Response to “किस पर करें विश्वास”

  1. suresh karmarkar

    इसी मीडिया ने केजरीवाल और कंपनी को सर पर बिठा लिया था. . गडकरी और सतीश उपाध्याय के खिलाप जो आरोप लगाए गए थे उसमे से एक में तो केजरी ने लिखित माफ़ी मांग ली,सतीश जी ने जो मानहानि का केस दायर कर रखा है उसका फैसला भी जल्दी आ जावे तो ठीक. केजरी एंड कंपनी ने एक बात ठान राखी है की वे सब ईमानदार, साफ़,अच्छे प्रशासक बाकी सब बेईमान। अब तो हद हो गयी की जब केजरी ने कहा की मीडिया ने सुपारी ले राखी है. धन्य है यह मीडिया और मुख्यमंत्री। वैसे मीडिया को केजरी और अन्य नेताओं का अंतर समझ आ गया होगा.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *