ऐसे इतिहास को बदल डालो

-नरेश भारतीय-

poetry-sm

युग बदल रहा है

बदल रही है सोच
आने लगी है अंतत: होश
विस्मरण नहीं अब राष्ट्रवीरों का
सम्मान, अभिवादन, सादर नमन
अब सिर्फ और सिर्फ अपनों का…
सिकंदर को ग्रेट कहा तुमने
अकबर को भी महान बना डाला
अपने प्रताप को ठुकराया !
परकीयों को लाड़ दुलार दिया
आक्रांताओं को कन्धों पर ले
औरंगज़ेब को भी अपनाया
पथभ्रष्ट शिवा को कह डाला !
ऐसे इतिहास को बदल डालो
आने वाली संतानों को
सच्चा इतिहास बताने का
अवसर अब आ पहुंचा है

Leave a Reply

%d bloggers like this: