नारायण दत्त तिवारी

रासलीलाओं के रसिया अब बीजेपी की चौखट पर !

वे लोग धन्य हैं जो कहते हैं कि नारायण दत्त का राजनीति में बहुत सम्मान है। कांग्रेस में तो खैर तिवारी की कोई कदर बची नहीं है। लेकिन वैसे भी अब उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में न तो नारायण दत्त तिवारी की और न ही उनके नाम की कोई ऐसी हैसियत बची है कि उसके दम पर राजनीति की जा सके। सो, बीजेपी और उसके अध्यक्ष अमित शाह ने ठीक ही किया कि नारायण दत्त तिवारी को बीजेपी लेने का उपकार नहीं किया।