फादर्स-डे

पश्चिमी सभ्यता और संस्कृति का संवाहक है फादर्स डे

फादर्स डे की शुरूआत 20 वीं सदी से मानी जाती है।मान्यता है कि पिताधर्म तथा पुरूषों द्वारा परवरिश का सम्मान करने के लिए मातृ दिवस के पूरक उत्सव के रूप में मनाया जाता है। यह हमारे पूर्वजों और उनके सम्मान की स्मृति में भी मनाया जाता है। फादर्स डे विश्व के सभी देशों में अलग- अलग तारीखों तथा अलग- अलग रूपों से मनाया जाता है।

फादर्स-डे : माता-पिता को अपने नहीं, उन्हीं के नजरिये से समझें

-डॉ. पुरुषोत्तम मीणा ‘निरंकुश’- 15 जून को आधुनिक पीढ़ी का फादर्स-डे अर्थात् पितृ दिवस है।