ब्रिक्स

ब्रिक्स में दिखा पुनः भारत-रूस संबंध

दोनों देशों के बीच 226 कामोव हेलिकाॅप्टरों के निर्माण पर समझौता हुआ। जिसके द्वारा मोदी की महत्वाकांक्षी योजना मेक इन इंडिया को भी बल मिलेगा।
ब्रिक्स सम्मेलन से एक बात सामने आई, कि भारत और रूस दोनों की दोस्ती एक बार पुनः प्रगाढ़ हुई है। दोनों देशों के बीच आतंकवाद के मुद्वे पर साथ आने पर भारत के पड़ोसी देशों को जरूर झटका लगेगा , जो कि जरूरी भी था।

ब्रिक्स से पाकिस्तान को कड़ा संदेश देने की जरूरत

भारत की ताजा फैसलों से पाकिस्तान घबराया-बौखलाया हुआ है। जिसका परिणाम यह हुआ है कि वहाँ के आईएसआई प्रमुख कि छुट्टी कर दी गयी है। पाकिस्तान के साथ 46 अरब डालर कि सीपेक( चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा) को लेकर चीन चिंतित है।