देश द्रोहियों का सम्मान वरदाश्त नही- इन्द्रेश कुमार

indदेश द्रोहियों का सम्मान वरदाश्त नही- इन्द्रेश कुमार
बस्ती,।   के प्रचार विभाग द्वारा नारद जयंती के अवसर पर आयोजित विचार गोष्ठी एवं पत्रकार सम्मान समारोह को संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इन्द्रेश कुमार ने वतौर मुख्य अतिथि संवोधित किया। कहा की देश सर्वोपरि है,इस बात से समझौता नही किया जा सकता देश के सम्मान के साथ खिलवाड़ करना देश द्रोह है यह किसी भी सूरत में वरदाश्त नही है। कार्यक्रम की शुरुआत भगवान नारद तथा भारत माता के चित्र पर माल्र्यापर्ण के साथ हुयी। समरसता और आज का युवा तथा पत्रकार जगत की भूमिका विषय पर विचार व्यक्त करते हुये मुख्य वक्ता ने कहा की समाज में समरसता कायम किये वगैर देश का विकास नही हो सकता। संवोधन से भाव बदल जाता है उदाहरण देते हुये बताया की अन्न के टुकड़े को जब हम प्रसाद नाम देते है तो उसका सम्मान बढ़ जाता है। छुआछूत समाज में विष की तरह फैल गया है,इससे देश का बहुता नुकसान हो रहा है इसे दूर करने के लिये स्वयं से शुरुआत करनी होगी। समाज में फैल रही बुराइयों को दूर करने के लिये केवल कानून बनाने से काम नही चलेगा,कानून तो अपराध हो जाने के बाद सजा देता है हमे नैतिक रुप से मजबूत होना होगा जिससे अपराध हो ही ना। छुआछूत से देश का बहुत घाटा पहले ही हो चुका है इसे दूर करना ही होगा,देश पर संकट के बादल मड़रा रहे है यदि युवा पीढ़ी आगे आये तो संकट के बादल दूर हो जायेगें। कार्यक्रम का संचालन करते हुये विभाग प्रचार प्रमुख प्रेरक मिश्रा ने कहा की नारद को आदि पत्रकार की संज्ञा दी जाती है,पत्रकारों को उनके रास्ते पर चलते हुये अपना धर्म निभाना चाहिये। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रमुख व्यवसायी सुरेश खत्री ने किया। कार्यक्रम के दौरान पत्रकारिता के क्षेत्र में यशस्वी कार्य करने वाले पत्रकारों को सम्मानित भी किया गया। इस मौके पर संघ के प्रान्त प्रचारक मुकेश विनायक खांडेकर,ज्ञानी विरेन्द्र सिंह,बाबा राम लखन दास,अभय तिवारी,राहुल शुक्ला,अरविन्द सिंह चैहान,पुष्कर मिश्र,विनोद पांडेय,अमित शुक्ला,गणेश मिश्रा,भूपेश कुमार,परमेश्वर,राजेन्द्र नाथ तिवारी के साथ बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: