ट्रूडो ने लिया कार्बन टैक्स चार गुना करने का फ़ैसला

कनाडा में कार्बन उत्सर्जन करने वालों का टूटेगा हौसला

ख़ासे इंतजार के बाद आखिर कनाडा ने अपनी लंबे समय से प्रतीक्षित जलवायु योजना का खुलासा कर ही किया है। इस प्लान की सबसे ख़ास बात है प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो का कार्बन एमिशन पर टैक्स बढ़ाने का फ़ैसला। उनका मानना है कि टैक्स बढ़ाने से उत्सर्जन पर लगाम लगायी जा सकती है। इसके साथ ही, सरकार ने इस दिशा में $15 बिलियन के नए निवेश का भी फ़ैसला लिया है।

फ़िलहाल कनाडा में $24 प्रति टन कार्बन उत्सर्जन का फेडरेल टैक्स लगता है, जिसे अब सरकार ने धीरे-धीरे बढ़ाते हुए साल 2030 तक $133 तक करने का फ़ैसला किया है। कनाडा सरकार की मानें तो यह फ़ैसले कनाडा के लिए न सिर्फ़ एक स्वस्थ पर्यावरण और एक स्वस्थ अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल कराएँगे बल्कि 2030 तक उत्सर्जन में कमी के लक्ष्य को पार करने में भी मदद करेंगे।

हालांकि कनाडा के जलवायु विशेषज्ञों ने कार्बन की बढ़ती कीमत और जलवायु कार्रवाई में $15 बिलियन के नए निवेश का स्वागत किया है, वे कहते हैं कि कनाडा को वास्तव में एक वैश्विक स्वच्छ अर्थव्यवस्था में शामिल होने और अपने उत्सर्जन को कम करने के लिए बहुत अधिक धन की आवश्यकता है।

पेरिस में, COP21 में, कनाडा 2030 तक उत्सर्जन में 2005 के स्तर से 30 प्रतिशत की कटौती करने के सुपुर्द रहा। यह पूर्व कंजर्वेटिव सरकार द्वारा उसी वर्ष पहले निर्धारित किया गया लक्ष्य है। यह नई योजना 2030 तक 2005 के स्तर से 32-40 प्रतिशत उत्सर्जन में कमी के बीच एक लक्ष्य निर्धारित करती है। संघीय सरकार के अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि अगर योजना के सभी उपायों को लागू किया जाता है, तो वे वर्तमान लक्ष्य से 40 प्रतिशत तक बढ़ा हुआ नतीजा पाएंगे।

नई जलवायु योजना का एक महत्वपूर्ण हिस्सा कार्बन की बढ़ती कीमत है। वर्तमान में, कार्बन की कीमत 30 डॉलर प्रति टन है और 2022 तक प्रति वर्ष 10 डॉलर बढ़कर 50 डॉलर प्रति टन होने वाली है। इस नई योजना के साथ, 2022 के बाद यह 15 डॉलर प्रति वर्ष के उच्च मूल्य पर बढ़ेगा और यह 2030 तक 170 डॉलर प्रति टन तक पहुंच जायेगा।

हालांकि, कार्बन मूल्य निर्धारण के आसपास एक शेष बाधा यह है कि ओंटारियो, अल्बर्टा और सस्कैचेवन के प्रांत संघीय कार्बन मूल्य के लिए अदालत कीमें चुनौतियों का अनुसरण कर रहें हैं। सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई सितंबर में हुई और यह पता नहीं किप्रांतों के दावे पर कि संघीय सरकार ने अपने अधिकार क्षेत्र के दायरे के बहार कदम उठाएं हैं पर फैसला कब आएगा।

जलवायु योजना के अन्य उल्लेखनीय तत्वों में बॉर्डर कार्बन समायोजन की छान-बीन के प्रस्ताव शामिल हैं, जो अपने कार्बन मूल्य के बिना क्षेत्राधिकारों से आयात पर एक मूल्य डालते हैं, और मीथेन नियमों को मजबूत करते हैं।

योजना की कमियों में आने वाले स्वच्छ ईंधन मानक को सीमित करना शामिल है, जो कनाडा में सभी गैसीय जीवाश्म ईंधन पर लागू होता था लेकिन जिसमें अब गैस या ठोस ईंधन शामिल नहीं हैं। इस योजना से शून्य उत्सर्जन वाहनों के लिए जनादेश के लक्ष्य भी शामिल नहीं हैं।

जलवायु कार्रवाई के लिए नए खर्च में $15 बिलियन की मुख्य विशेषताओं में शामिल हैं

• प्रमुख परियोजनाओं में उत्सर्जन में कटौती के लिए भारी उद्योग को $3 बिलियन (स्टील और तेल)

• अरीना रंगभूमि) (और हॉल जैसी इमारतों की ऊर्जा दक्षता में सुधार के लिए समुदायों के लिए $1.5 बिलियन

• स्वच्छ ऊर्जा बिजली ग्रिड और बिजली भंडारण का विस्तार करने के लिए लगभग $1 बिलियन

• स्वदेशी समुदायों सहित दूरदराज के क्षेत्रों में डीजल ईंधन से दूर संक्रमण के लिए मदद करने के लिए $300 मिलियन

• शून्य-उत्सर्जन वाहनों के लिए छूट (रिबेट) के लिए $287 मिलियन

• कम कार्बन ईंधन के उत्पादन और उपयोग में वृद्धि के लिए $1.5 बिलियन

हालाँकि कनाडा इस नई योजना के साथ संजीदा दिखा रहा है, लेकिन लक्ष्यों को बना कर उन्हें पूरा न करने और साथ ही नीतियों को उद्योग द्वारा कमज़ोर करने का इतिहास रहा है इस देश का। 1990 के दशक की शुरुआत से, कनाडा ने अभी तक एक एकल उत्सर्जन कटौती लक्ष्य को पूरा नहीं किया है। कनाडा 2030 के लक्ष्य को 77 मिलियन टन से चूकने वाला है, जो कि एक वर्ष में 16 मिलियन यात्री कारों से उत्सर्जन के बराबर होगा।

पिछले पांच वर्षों में, लिबरल प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो के नेतृत्व में, कनाडा ने जलवायु पर एक मिश्रित रुख दर्शाया है। हालाँकि प्रधान मंत्री ट्रूडो ने जलवायु कार्रवाई के महत्व के बारे में बार-बार बात की है, लेकिन उन्होंने अल्बर्टा तेल रेत को भी सहयोग दिया है। (कनाडा में, 1990 और 2018 के बीच, तेल और गैस क्षेत्र कार्बन प्रदूषण का सबसे तेजी से बढ़ने वाला स्रोत था, जिसका मुख्य कारण कार्बन-सघन तेल रेत उत्पादन में वृद्धि है। 2017 में, देश के 27 प्रतिशत ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के लिए तेल और गैस जिम्मेदार थे।)

• कोविड-19 आर्थिक सुधार प्रयासों के हिस्से के रूप में, कनाडा ने स्वच्छ ऊर्जा के लिए 11.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर के मुकाबले जीवाश्म ईंधन का समर्थन करने के लिए कम से कम $ 14.14 बिलियन अमरीकी डॉलर देने के लिए वचन दिया है। सभी जी-20 देशों में से, कोविड-19 से पहले भी, कनाडा जीवाश्म ईंधन के लिए सार्वजनिक वित्त में प्रति जीडीपी के आधार पर सबसे अधिक खर्च करता था।

• राष्ट्रपति इलेक्ट जो बिडेन के साथ अपनी पहली कॉल में प्रधान मंत्री ट्रूडो ने न केवल जलवायु परिवर्तन पर चर्चा की, बल्कि उन्होंने कीस्टोन एक्सएल पाइपलाइन का मुद्दा भी उठाया, जो संयुक्त राज्य अमेरिका में क्रूड तेल रेत को ले जाएगा।

• 2018 में, जब किंडर मॉर्गन, ट्रांस माउंटेन पाइपलाइन के मालिकों ने पाइपलाइन मार्ग (टीएमएक्स परियोजना) का विस्तार करने की योजना को त्याग दिया, तो कनाडा सरकार ने इसे खरीदने के लिए $ 3.4 बिलियन अमरीकी डालर खर्च किए।

क्लाइमेट एक्शन नेटवर्क कनाडा – Réseau action climat Canada (CAN-Rac Canada) की कार्यकारी निदेशक, कैथरीन अब्रू, का कहना है, “ऐसी नीतियों का होना अच्छा है जो, अगर जल्दी और बड़ी कठोरता के साथ लागू की जाती हैं, तो कनाडा की जलवायु लक्ष्यों को वर्तमान अपर्याप्त पेरिस प्रतिज्ञा से आगे अधिक महत्वाकांक्षी बनाएं। जलवायु कार्रवाई में $15 बिलियन का निवेश देखना भी अच्छा है। हालांकि, ये संख्या यूरोपीय संघ में हमारे निकटतम व्यापारिक भागीदारों द्वारा और संयुक्त राज्य अमेरिका (एक नए बिडेन प्रशासन के नेतृत्व में) द्वारा की गई प्रतिबद्धताओं की तुलना में कम है। प्रांतों और क्षेत्रों को कनाडा की जलवायु महत्वाकांक्षाओं को बढ़ावा देने के लिए अपनी कोशिशों को और बढ़ाना होगा, जहां उन्हें होने की आवश्यकता है वहां उन्हें पहुँचने के लिए, और सभी सरकारों को हमारे द्वारा आवश्यक परिवर्तनकारी बदलाव लाने के लिए तालिका में बहुत बड़े निवेश लाने की आवश्यकता है।”
कैथरीन की बात को आगे ले जाते हुए एन्वाइरोमेन्टल डिफेंस (पर्यावरण रक्षा) कनाडा में राष्ट्रीय जलवायु कार्यक्रम प्रबंधक, डेल मार्शल, कहते हैं, “हम कार्बन मूल्य के खुदरा हिस्से की सार्थक वृद्धि और जलवायु कार्रवाई में $15 बिलियन के निवेश का स्वागत करते हैं। लेकिन वह राशि, जो प्रति व्यक्ति के आधार पर अन्य देशों कर रहें हैं का एक छोटा सा हिस्सा है, स्पष्ट रूप से काम नहीं कर सकता है। अगर कनाडा को अमेरिका या ईयू की महत्वाकांक्षा के स्तर का अनुसरण करना है तो कनाडा को 270 बिलियन डॉलर का निवेश करना चाहिए। यह भी निराशाजनक है कि संघीय सरकार उन उपायों को अनदेखा करना जारी रखती है जो कि कनाडा के कार्बन उत्सर्जन के सबसे बड़े स्रोतों को कम करतें हैं: तेल और गैस क्षेत्र, और सड़क परिवहन। उत्सर्जन को कम करने के यह कदम अच्छी तरह से ज्ञात हैं – कोई नई तेल और गैस परियोजनाएं ना होना, जीवाश्म ईंधन उत्पादन और उपयोग से बाहर हटने के लिए एक क्रमिक चरण, इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन बढ़ाने के लिए कार्रवाई। इन उपायों पर काम करने का समय कबका आ गया है, उन श्रमिकों और समुदायों के लिए एक उचित संक्रमण योजना के साथ जो जीवाश्म ईंधन क्षेत्र पर निर्भर हैं।

Leave a Reply

45 queries in 0.348
%d bloggers like this: