लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under प्रवक्ता न्यूज़.


गन्नौर 5, फरवरी । उपाध्याय श्री गुप्तिसागर जी महाराज के सानिध्य में मोहब्बत की खुशबू से लबरेज 11 दिवसीय रविवार को पंचबालयति पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं महामस्तकाभिषेक संपन्न हुआ। जिसमे 18 प्रदेशों के जैन श्रावक धर्म प्रेमी शामिल हुए.

 

गुप्तिसागर महाराज ने कहा कि प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा, भगवान महावीर का सन्देश, मानवता का स्वरुप जैन श्रावकों की श्रद्धा, भक्ति और समर्पण, मानवीय दिव्य गुणों का साक्षात्कार आप सभी के द्वारा व्यवहारिक रूप में प्रकट हुआ है. यह अलौकिक दिव्य, भव्य, ब्रह्म परम ज्ञान का उदय हो कर मानव जगत को प्रकाशमान कर रहा है। 11 दिनों तक सभी ने भगवान के दिव्य दर्शन किए। दिव्य वाणी से मन को पवित्र किया। यह पवित्रता, पावनता, सज्जनता, शालीनता के साथ हमारी ज़िंदगी सज्जित करती रहे और आपका जीवन दूसरों के लिए अच्छा उदाहरण बनें, यही धर्म उद्घोष है। यही दिव्य संदेश है, जिससे विश्व का कल्याण होगा। मानवता की डगर पर अग्रसर सकारात्मक चिंतन के साथ जीवन को उज्ज्वल करेगा। यह संकल्प करें कि हमारा उठता हर कदम, चलती हर सांस मानव कल्याण के लिए कार्य करे।

 

इस अवसर पर कुछ प्रमुख पात्रों को गुप्तिसागर महाराज जी के सानिध्य मे सम्मानित किया गया। ध्वजाह्म्शद्धरोहणकर्ता प्रमोद कुमार जैन और ड्डह्वह्म् अनीता जैन, मंगल कलश स्थापनकर्ता सतीश जैन माटा और सीमा जैन माटा, अखंड ज्योति विनय कुमार जैन और भूपेन्द्र कुमार जैन, दीप प्रज्ज्वलनकर्ता प्रमोद कुमार जैन, आमंत्रण पत्रिका अनावरणकर्ता कुलदीप जैन और श्रवण जैन, भगवान महावीर का पालना राजेश जैन, पुष्पा जैन, अनुज जैन और अमन जैन, आचार्य ज्ञानसागर विद्यापीठ मुख्य सहयोगी सतेन्द्र जैन और संतोष जैन, उद्घाटनकर्ता सुनील जैन और सरिता जैन, तीर्थंकर के माता पिता नवीन कुमार जैन और सुधा जैन, यज्ञनायक जे. सी. जैन और सुनीता जैन, यजमान यू. सी. जैन और नीता जैन, सौधर्मेन्द्र शचि पवन कुमार जैन और अनीता जैन, धनपति कुबेर धनेन्द्र कुमार जैन और अंजू जैन, ईशानेन्द्र पवन कुमार जैन और स्रीवा जैन, सानत्कुमारेन्द्र विजय कुमार और भावना जैन, महेंद्र इंद्र राकेश जैन और संतोष जैन, ब्रहमेन्द्र वी. के. जैन और प्रभा जैन, ब्रहमोत्तर इन्द्र संजय जैन और मंजु जैन, लान्तवेन्द्रमहेंद्र महेंद्र कुमार जैन और प्रभा जैन, कापिष्ठेंद्र सुरेश चंद जैन और विमला जैन, शुकेन्द्र विजय कुमार जैन और बीना जैन, महाशुकेन्द्र अशोक जैन और सुमन जैन, शतारेन्द्र मनोज जैन और सीमा जैन, सहस्त्रारेन्द्र मुकेश जैन और नीलम जैन, आणतेन्द्र अमीचन्द जैन और सीमा जैन, प्राणतेन्द्र अजय जैन और अरुणा जैन, आरनेन्द्र रविंद कुमार जैन और अलका जैन, अच्युतेन्द्र दीपक जैन और रेखा जैन, यशकीर्ति इन्द्र प्रदीप जैन और नीता जैन, अपराजित इन्द्र अनंतवीर जैन और कांटा जैन, अमर प्रभ इन्द्र अमरचंद जैन और निशा जैन, मेघरथ इन्द्र सुरेश जैन कांता जैन, कर्मजित इन्द्र श्रीपाल जैन और उर्मिल जैन, श्री कल्प इन्द्र रविंद्र जैन और शोभा जैन, वीरभद्र इन्द्र कैलाश जैन और संतोष जैन, चिंतामणि इन्द्र रवि सेठी और बबीता सेठी, कुसुमेन्द्र इन्द्र लोकेश जैन और पूनम जैन, प्रभंजन इन्द्र मनोज सेठी और पिंकी सेठी, कीर्तिध्वज इन्द्र प्रकाशचंद जैन और स्नेह जैन, प्रभंजन इन्द्र पंकज जैन और तृप्ता जैन, कुसुम इन्द्र अंशुल कासलीवाल और अभिलाषा कसलीवाल, उदयानंद इन्द्र कपिल जैन और अर्चना जैन, ललितांग इन्द्र सुभाष चंद जैन और उषा जैन, मानिकेतु इन्द्र अनिल जैन और कमलेश जैन, सुवर्णसार इन्द्र संजीव जैन और रचना जैन, प्रभंजन इन्द्र संजय जैन और अनिला जैन, वीरभद्र इन्द्र प्रवीण कासलीवाल और रजनी कासलीवाल, चिंतामणि इन्द्र श्यामसुंदर जैन और पुष्पलता जैन, कुसुमेन्द्र इन्द्र मनमोहन जैन और शांति जैन, सुदृष्टि इन्द्र हर्ष बडज़ात्या और साक्षी बडज़ात्या, कीर्तिध्वज इन्द्र नरेश चंद जैन और नेहा जैन, उपशांत इन्द्र प्रदीप जैन और उषा जैन, वरुण राज नितिन जैन और श्वेता जैन, विमलार्क इन्द्र गौरव जैन और मनीषा जैन, सुदृष्टि इन्द्र अनुपम जैन और छवि जैन, जलकांत इन्द्र राजेश जैन और मधु जैन, वल्लभ इन्द्र महेंद्र जैन और शीला जैन, पुण्यार्क इन्द्र कैलाश चंद जैन और बीना जैन, जलप्रभ इन्द्र राजकुमार जैन और अनीता जैन, रतनांग इन्द्र के. सी. जैन, बुद्धिप्रभ इन्द्र नरेश चंद और अर्चना जैन, प्रियमित्र इन्द्र प्रमोद गोधा, धर्मवास इन्द्र सुनील जैन और रेखा जैन, वैजयंत इन्द्र सुरेश जैन और सरिता जैन, हरिषेण इन्द्र अनिल जैन और सुनीता जैन, सोमकिर्ति इन्द्र प्रदीप जैन और अलका जैन, मणिकांत इन्द्र मनीष जैन और ममता जैन, वैजयंत इन्द्र धर्मेंद्र जैन और सविता जैन, मानिकेतु इन्द्र राजीव जैन और अनीता जैन, विश्व चन्द्र इन्द्र अतुल जैन और मधु जैन, निर्देशन सुमन जी शास्त्री और संयोजन ब्राह्नचारिणी रंजना दीदी जी ने किया।

 

इस महोत्सव में हरियाणा विधानसभा स्पीकर कुलदीप शर्मा, हरियाणा राज्यपाल जगन्नाथ पहाडिय़ां जी, हरियाणा मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, केन्द्रीय ग्रामीण एवं विकास मंत्री प्रदीप जैन, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कृष्णा तीरथ, सावित्री जिंदल आदि भी सम्मिलित हुए।

 

इस 11 तक चलने वाले कार्यक्रम के दौरान न्यायमूर्ति विचार संगोष्ठी भी हुई, जिसकी अध्यक्षता पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के मुख्य जस्टिस वी.के. जैन ने की। इस अवसर पर राष्ट्रीय कवि सम्मलेन का आयोजन किया गया जिसमे सुरेन्द्र शर्मा, हरिओम पंवार, कुंवर बैचेन, अरुण जैमिनी और डॉ संगीता सरगम ने हिस्सा लिया।

 

इस भव्य महोत्सव में पंजाब एवं हरियाणा के अलावा दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उतराखंड, गुजरात, मध्य प्रदेश, आसाम, नागालैंड, मणिपुर, तमिलनाडु, बिहार, झारखण्ड, पं.बंगाल, पांडुचेरी, गोवा, महाराष्ट्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, राजस्थान, हिमाचल, चंडीगढ़, जम्मू कश्मीर आदि सभी राज्यों से लोगों ने हिस्सा लिया।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz