सीएजी रिपोर्ट पर दोहरा मापदंड क्यों?

Posted On by & filed under आर्थिकी, राजनीति

प्रवीण दुबे देश में अब तक हुए घोटाले में सबसे बड़े कोयला घोटाले को लेकर कांग्रेस और संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार कठघरे में हैं वहीं प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह की इस काली करतूत पर परदा डालने का काम किया जा रहा है। आश्चर्य की बात तो यह है कि 1.83 लाख करोड़ के इस महाघोटाले को लेकर… Read more »

कैग के कठधरे में सरकार

Posted On by & filed under आर्थिकी

प्रमोद भार्गव नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक के कठधरे का दायरा बढ़ रहा है। कैग द्वारा संसद में पेश ताजा ड्राफ्ट रिपोर्ट में हवाला दिया है कि लौह अयस्क खदानों के आबंटन में भी बड़े पैमाने पर बंदरबांट हुर्इ है। बेहद सस्ती दरों पर निजी कंपनियों को लोहे के भूखण्ड दे दिए गए। बाजार मूल्य पर… Read more »

सी.ए.ज़ी. की रिपोर्ट और नीतीशजी की चिंता

Posted On by & filed under विधि-कानून

बिहार के वित्तीय हालात को दर्शाने वाली रिपोर्ट में – नियंत्रक और महालेखा परीक्षक यानि सी.ए.जी.- ने राज्य सरकार को आर्थिक लेखा- जोखा रखने के तौर तरीकों पर एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। एसी- डीसी बिल का जिन्न अब भी सरकार के गले की हड्डी बनी दिखाई देती है। कॉम्पट्रोलर ऐन्ड एकाउन्टेन्ट जनरल… Read more »