लेखक परिचय

विपिन किशोर सिन्हा

विपिन किशोर सिन्हा

जन्मस्थान - ग्राम-बाल बंगरा, पो.-महाराज गंज, जिला-सिवान,बिहार. वर्तमान पता - लेन नं. ८सी, प्लाट नं. ७८, महामनापुरी, वाराणसी. शिक्षा - बी.टेक इन मेकेनिकल इंजीनियरिंग, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय. व्यवसाय - अधिशासी अभियन्ता, उ.प्र.पावर कारपोरेशन लि., वाराणसी. साहित्यिक कृतियां - कहो कौन्तेय, शेष कथित रामकथा, स्मृति, क्या खोया क्या पाया (सभी उपन्यास), फ़ैसला (कहानी संग्रह), राम ने सीता परित्याग कभी किया ही नहीं (शोध पत्र), संदर्भ, अमराई एवं अभिव्यक्ति (कविता संग्रह)

Posted On by &filed under महत्वपूर्ण लेख, विविधा.


राजेश एक ३५ वर्षीय युवक है। उसके तीन बेटियां हैं। वह राजमिस्त्री का काम करता है। उसकी पत्नी कई घरों में झाड़ू-पोंछा का काम करती है। वह सपरिवार मेरी ही कालोनी में रहता है। गत वर्ष नवंबर में राजेश काम करते समय निर्माणाधीन दुमंजिले मकान की छत से गिर गया। सीने और घुटने में भयंकर चोटें आईं। ईश्वर की कृपा और त्वरित चिकित्सा मिलने के कारण उसकी जान तो बच गई, लेकिन घुटने का जटिल फ्रैक्चर जो एक विशेष प्रकृति का है, आज भी विद्यमान है। राजेश विकलांग हो गया है। घर में भूखमरी की स्थिति है। उसकी चिकित्सा काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में चल रही है। अबतक लाखों रुपए खर्च हो चुके हैं। डाक्टरों का कहना है कि घुटने का आपरेशन करना पड़ेगा। उसके बाद ९०% संभावना है कि वह ठीक हो जाएगा और अपना काम कर सकेगा। राजेश के पास एक फूटी कौड़ी भी नहीं है और आपरेशन का संभावित खर्च लगभग एक लाख रुपए है। डाक्टर ने मई में उसके आपरेशन का डेट दिया है।

मैंने, मेरे स्थानीय मित्रों और काशी की प्रतिष्ठित संस्था ‘संस्कृति शोध एवं प्रकाशन’ ने अब तक राजेश की चिकित्सा पर आए खर्च वहन किए हैं लेकिन अब धनाभाव हो गया है जिसके कारण उसके घुटने का आपरेशन नहीं हो पा रहा है। अत: सभी मित्रों से अनुरोध है कि राजेश को अपने पैरों पर खड़ा करने में सहयोग करें और इस पुण्य कार्य के लिए अधिकाधिक धनराशि ‘संस्कृति शोध एवं प्रकाशन, वाराणसी’ के नाम चेक या डीडी से भेजकर मानवता को अनुगृहीत करें।

–विपिन किशोर सिन्हा, महामनापुरी, वाराणसी, फोन नं. ९४१५२८५५७५

चेक या डीडी निम्न पते पर भेजें –

संस्कृति शोध एवं प्रकाशन,

विवेकानन्द मठ,

महामनापुरी,

पत्रालय – बी.एच.यू., वाराणसी – २२१००५

4 Responses to “सभी मित्रों से एक महत्त्वपूर्ण अपील / विपिन किशोर सिन्‍हा”

  1. Bipin Kishore Sinha

    उत्साहवर्धन के लिए धन्यवाद। यह सत्य है, बूंद-बूंद से ही सागर भरता है। अबतक १५ हजार रुपए दान स्वरूप आ चुके हैं। दानदाताओं के नाम निम्नवत हैं –
    श्री प्रभु नारायण श्रीवास्तव, लखनऊ – २०००/-, श्री आर.एन.वर्मा, लखनऊ – १०००/-, श्री राम अशीष सिंह यादव- १००००/-, श्री जेपीएन जायसवाल- १०००/-, श्री राम – १०००/- (सभी वाराणसी)
    बैंक A /C No . Union Bank of India,IFSC No. UBIN0RRBKGS, A/C No.616292010026223, Address 1- Brij Enclave, Ad2-Sunderpur, Varanasi-221005. Pl. note that the figure in IFSC after N is zero not O

    Reply
  2. आर. सिंह

    R.Singh

    आदरणीय सिन्हा जी मैं भी यही लिखने जा रहा था.देखा कि सुनील जी ने यह पहले लिख दिया है.बैंक खाता नंबर और बैंक का नाम देने से बहुत ही सहूलियत हो जायेगी.

    Reply
  3. sunil patel

    आदरणीय सिन्हा जी आप एक पुण्य का काम कर रहे है. समाज से सभी लोगो को मदद करनी चाहिए.

    कहते है की बूँद बूँद से सागर बनता है, पत्तो पत्तो से पेड़ बनता है. अगर बैंक खता नंबर भी दे दिया जाय तो मेरे जैसे बहुत से लोग ऑनलाइन जमा भी कर सकते है. ड्राफ्ट का खर्चा और समय भी बचेगा. धन्यबाद.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *