भारतीय चुनावों की कुछ विशेषताएं

indian20parliament20-2014वर्ष 2007 में केरल विधानसभा के लिए पिछले आम चुनाव के समय पेराम्बारा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में सिर्फ एक निर्वाचक के लिए ही एक मतदान केंद्र बनाया गया था।

जम्मू-कश्मीर के लेह विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में लेह एवं आन्ले फू में 5000 मीटर की ऊंचाई पर मतदान केंद्र उपलब्ध कराए गए।

तमिलनाडु में 1996 में विधानसभा के लिए आम चुनाव के समय, मोडाकुरूची विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में 1033 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था।

आंध्र प्रदेश में 1996 में लोकसभा के लिए आम चुनाव के समय नालगोण्डा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से 480 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था जो किसी भी संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की अधिकतम संख्या है।

एक मत का महत्व : मध्य प्रदेश और राजस्थान विधानसभा के 2008 के चुनावों में धार और नाथवाड़ा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में जीत का अंतर सिर्फ एक मत था। वर्ष 2004 में कर्नाटक विधानसभा चुनावों में सान्थेमाराहल्ली विधानसभा क्षेत्र में भी जीत का अंतर सिर्फ एक मत था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *

13,016 Spam Comments Blocked so far by Spam Free Wordpress