जिले के विकास में सभी सहयोगियों और अधिकारी का सहयोग आवश्यक है-मोहन चंदेल

जिले के विकास में सभी सहयोगियों और अधिकारी का सहयोग आवश्यक है-मोहन चंदेल

सिवनी -:जिला पंचायत के समस्त निर्वाचित जिला पंचायत सदस्यों द्वारा बिना किसी गति अवरोध के जिला पंचायत के आधीन कार्यो को जिले के ग्रामीण विकास में सहयोगात्मक भावना से कार्यो को अंजाम दिया जा रहा है। पंचायत राज की जो मूल भावना है उस भावना के अनुरूप त्रिस्तरीय पंचायत राज कार्य करें इसे प्राथमिकता देते हुए सभी जिला पंचायत के सदस्य प्रशासनिक अमले के सहयोग से कार्य कर रहें हैं। एक वर्ष के इस कार्यकाल में बेहतर परिणाम भी सामने आये हैं। यह बात जिला पंचायत अध्यक्ष मोहनङ्क्षसंह चंदेल द्वारा आज जिला पंचायत के सभा कक्ष में एक वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए कही गई। उन्होंने साल भर का लेखा-जोखा भी प्र्रस्तुत किया। ग्रामीण विकास के लिए चल रही योजनाओं की जानकारी दी और जिला पंचायत द्वारा विभिन्न मदों में जिनका सीधा सम्बन्ध योजनाओं के संचालन से है उनकी मदवार स्वीकृति और व्यय की गई राशि की जानकारी प्रदान की गई उन्होंने बताया कि भारत सरकार की महत्वकांक्षी योजना महात्मागांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत १४१०७.३६० लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ था जिसके विरूद्ध १००२९.३१३ लाख रूपये व्यय किये गये, स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के तहत ५३६.८८० लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ था जिसके विरूद्ध ५१०.०३६ लाख रूपये व्यय किये गये हैं, राजीव गांधी जलग्रहण क्षेत्र प्रबंधन मिशन के तहत ६४६.२०० लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ था जिसमें से ४४२.३५० लाख रूपये के कार्य कराये गये, इंदिरा आवास योजना के तहत ४९०.६१ लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ जिसमेंं से ४७०.५० लाख रूपये के कार्य कराये गये हैं, इंदिरा आवास योजना भौतिक लक्ष्य के लिए १०९० लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ है जिसका कार्य प्रगति पर है, मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत ६.८० लाख का आवंटन प्राप्त हुआ है जिसमें ५.८० लाख रूपये का कार्य करा लिये गये हैं मुख्यमंत्री आवास योजना भौतिक लक्ष्य ३० का कार्य प्रगति पर है, समग्र स्वच्छता अभियान के तहत ३९०.८१ लाख रूपये प्राप्त हुए जिसके विरूद्ध १५०.१६ का कार्य कराया गया है। बेकवर्ड रीजनग्रांट योजना के तहत १५५३.९१ लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ जिसमें से १०७०.१७ लाख रूपये विभिन्न कार्यो में खर्च हुए है, मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम परिषद के लिए २१४७.५३ लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ था जिसमें से १६०७.९३ लाख रूपये खर्च किये गये है।

जिला पंचायत अध्यक्ष मोहन चंदेल ने कहा कि महात्मागांधी द्वारा कल्पित ग्राम स्वराज की अवधारणा पर आधारित पंचायत राज लागू करने में मध्यप्रदेश अग्रणी रहा है। उसी मृूल भावना के अनुरूप पंचायत राज कार्य करें और ग्रामों का समग्र विकास सूनिश्चित हो इसकी चिंता करते हुए जिला पंचायत जनपद पंचायत और ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों को कार्य करना चाहिए। ग्रामीण क्षेत्रों खेल प्रतिभाओं को पर्याप्त अवसर प्राप्त हो इसी मंशा से ग्रामीण क्षेत्रों में खेल मैदान विकसित करने की योजना है, जिला पंचायत के सदस्यों से उन्होंने आग्रह किया है कि नंदनफलोद्यान योजना में विशेष रूचि लेकर अपने-अपने क्षेत्रों में इस योजना पर पर्याप्त कार्य करें। इस अवसर पर जिला पंचायत के सदस्यों ने चहुमुखी विकास में कोई कसर बाकी न रहे, इस प्रकार का संकल्प लिया। १ वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित विशेष कार्यक्रम में जिला पंचायत उपाध्यक्ष अनिल चौरसिया ने भी उपस्थित जनों को सम्बोधित किया और उन्होंने जिले में भ्रष्टाचार पर गहरा दुख प्रगट किया मुख्यकार्यपालन अधिकारी राकेश सिंह ने भी संक्षिप्त सम्बोधन में १ वर्ष के कार्याे का विवरण प्रस्तुत किया । जिला पंचायत सदस्य वशीरखान ने पाले से फसल की नुकसानी को बड़ी नुकसानी बताते हुए नियमानुसार मुआवजा न मिलने पर आपत्ति प्रगट की, घंसौर विकासखंड से जिला पंचायत सदस्य श्रीमती माया मुरारी के पति ने भी अपने विचार रखे, उन्होंने भी भ्रष्टाचार नौकरशाही, और आदिवासियों के शोषण के दुख को अपने सम्बोधन में व्यक्त किया। अधिकांध जिला पंचायत सदस्य भ्रष्टाचार और अव्यवस्थाओं से पीडि़त दिखाई दिये, श्रीमती रचना बिसेन ने भी समर्थन मूल्य पर धान खरीदी हो रही गड़बडिय़ों से किसानों को लाभ न मिलने का दुख प्रगट किया। रामगोपाल जयसवाल भी अपने तीखे अंदाज में असंतोष प्रगट करते रहे। इस अवसर पर उपस्थित कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आशुतोष वर्मा ने भी उपस्थित जिला पंचायत सदस्यों को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह प्रसंन्नता की बात है कि चुनकर आये जिला पंचायत बहुत संतुलित है, इसमें युवाओं का जोश है और बुजुर्गो का समावेश है। उन्होंने जिला पंचायत के एक वर्ष पूर्ण होने पर सभी को बधाई देते हुए कहा कि मोहन चंदेल द्वारा जो पदयात्रा की गई थी उसमें उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में जो विसंगतियां देखी थी उसे दूर करने का प्रयास होना चाहिए।

परमानंद जयसवाल के विरूद्ध आज हो सकती है एफआईआर

सिवनी वन माफिया के रूप मे चर्चित और वन संपदा की तस्करी के अनेक आरोप के आरोपी परमानंद जयसवाल के विरूद्ध कुरई थाने में तहसीलदार कुरई को अपर केलेक्टर द्वारा निर्देश जारी किये गये है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संभवत: आज या कल परमानंद जयसवाल के विरूद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज कराया जा सकता है। मिली जानकारी के अनुसार कुरई विकासखंड के टिकारी माल की किसी निजी भूमि में लगे हुए झाड़ के साथ इन्होंने शासकीय भूमि के झाड़ भी कटा लिये थे हल्के के पटवारी द्वारा एवं अन्य राजस्व के अधिकारियों द्वारा आपत्तियां किये जाने पर उनके साथ गालीगलोच की जाती रही है। जिसकी शिकायत उच्चाधिकारियों को की गई मामले को संज्ञान में लेने के पश्चात काफी विस्तृत विवेचना हुई और अंत में पाया गया कि मामला आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने योग्य है सूत्र बताते हैं कि परमानंद जयसवाल के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करने के निर्देश अपरकलेक्टर द्वारा लगभग १ पखवाड़ेे पूर्व तहसीलदार को दे दियेगये थे परंतु एफआई आर आज दिनंाक तक नहीं होना अनेक संदेहो को जन्म दे रहा रहा है वहीं इस संबम्बध में कुरई तहसीलदार से चर्चा की गई तो उन्होंने जगणना की व्यवस्त्ता होने का कारण बताया और शीघ्र ही एफआईआर करने की बात कही है

मुख्यमंत्री आवास योजना में 70 हजार रूपये में जरूरतमंदों के लिए मकान बनाये जायेंगे

सिवनी -:शासन की योजनाओं को ग्रामीणों तक पहुंचाने के लिए जिला जनसम्पर्क विभाग द्वारा जिले के आदिवासी विकासखंडों में लगाये जा रहे सूचना शिविरों की श्रृंखला में गत 26 फरवरी को छपारा विकासखंड के दूरस्थ ग्राम केवलारी में ऐसा ही सूचना शिविर आयोजित किया गया। इस मौके पर ग्राम सरंपच केवलारी श्रीमती जलवतीबाई, बकोडा सरपंच श्री धनीराम बरकडे, सचिव ललित शर्मा, आदिम जाति कल्याण विभाग के मंडल संयोजक श्री एस.पी.सिंह, पशु चिकित्सा विभाग के ए.व्ही.एफ.ओ. श्री जी.एल.सोनकुंवर, उद्यान विस्तार अधिकारी श्री नामदेव, वनपाल श्री शिवदयाल, जलसंसाधन के उपयंत्री श्री डेहरिया, पी.एच.ई. के उपयंत्री श्री खरे, पी.सी.ओ. श्री डेहरिया के अलावा अन्य अधिकारी एवं स्थानीय ग्रामीणजन उपस्थित थे।

शिविर में जनपद पंचायत छपारा के ए.डी.ओ. श्री महेश यादव ने ग्रामीणों को बताया कि आगामी एक अप्रैल से लागू हो रही मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत जरूरतमंदों के लिए मकानों का निर्माण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि छपारा जनपद पंचायत क्षेत्र में 500 आवास प्रतिवर्ष के मान से आगामी तीन वर्षो में कुल 1500 आवासों का निर्माण इस योजना के तहत किया जायेगा। आवास बनाने के लिए जरूरतमंद ग्रामीण के पास खुद की जमीन होना चाहिये। इस योजना के तहत कुल 70 हजार रूपये में मकान बनाये जायेंगे, जिसमें 60 हजार रूपये बैंक से ऋण दिया जायेगा। जिसमें 30 हजार रूपये की सब्सिडी मिलेगी। ऋणी को 30 हजार रूपये बैंक में चुकता करना पडेगा और 10 हजार रूपये हितग्राही को स्वंय की ओर से लगाना होगा। इस योजना हेतु पात्र हितग्राही का चयन ग्राम सभा द्वारा किया जायेगा। उन्होंने बताया कि गांव के बेरोजगार लोग स्व सहायता समूह बनाकर ग्राम में ही खुद का छोटा रोजगार स्थापित कर सकते है। शिविर में मंडल संयोजक द्वारा आदिम जाति कल्याण विभाग के माध्यम से आदिवासी भाईयों के आर्थिक व सामाजिक कल्याण हेतु शासन द्वारा संचालित योजनाओं की विस्तृत जानकारी ग्रामीणों को दी गई। उन्होंने बताया कि आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा छपारा विकासखंड में 4 कन्या आश्रम संचालित किये जा रहे है। जिसमें कन्याओं की शिक्षा-दीक्षा के अलावा उनके रहने-खाने की पूरी व्यवस्था की जाती है। ग्रामीणजन अपनी कन्याओं को इस आश्रमों में भर्ती कराकर उन्हें शिक्षा दिला सकते है।

उद्यान विभाग के विस्तार अधिकारी ने ग्रामीणों को उद्यानिकी विभाग द्वारा संचालित विविध योजनाओं यथा मसाला बीज विकास, फलदार पौधे प्रदाय योजना, पुष्प व सब्जी विकास योजना सहित स्प्रिंकलर एवं टपक सिंचाई योजनाओं की विस्तृत जानकारी ग्रामीणों को देते हुए ग्रामीणों द्वारा पूछे गये प्रश्नों एवं शंकाओं का समाधान भी किया।

पी.सी.ओ. श्री डेहरिया ने ग्रामीणों को महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारन्टी योजना के तहत छपारा विकासखंड में कराये जा रहे निर्माण कार्यो की जानकारी देकर ग्रामीणों को इस योजना में मजदूरी दर में हुई वृद्वि के बारे में भी बताया। शिविर में ओमकार कश्यप की नाटॠ मंडली द्वारा नुक्कड नाटक के माध्यम से राज्य शासन की लोकप्रिय व जनहितैषी योजनाओं की रोचक प्रस्तुति देकर ग्रामीणों को उनके लाभ बताये एवं योजनाओं का आगे आकर लाभ उठाने का संदेश भी दिया गया।

चिकित्सा विभाग द्वारा इन सूचना शिविरों में स्वास्थ्य सुधार योजनाओं के प्रचार के लिए विशेष रूप से नियुक्त किये गये एक जादूगर द्वारा अपनी कलाप्रदर्शन से ग्रामीणों को परिवार नियोजन व कल्याण कार्यक्रम, जननी सुरक्षा योजना सहित अन्य योजनाओं की जानकारी देकर उनका मनोरजन भी किया गया। इस मौके पर जनसम्पर्क विभाग द्वारा प्रचार साहित्य भी ग्रामीणों के बीच वितरित किया गया।

Leave a Reply

28 queries in 0.330
%d bloggers like this: