लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under पर्यावरण.


cimg00281उत्तर भारत का मैदानी इलाका लू की चपेट में है। इन इलाकों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे आने का नाम नहीं ले रहा है। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक फिलहाल इस गर्मी से राहत मिलने की कोई संभावना नहीं है।राजधानी में शुक्रवार को अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से पांच डिग्री अधिक था। मौसम के इस बिगड़े मिजाज के कारण लोग घरों या दफ्तरों में ही दुबके रहे।

आईएमडी के अधिकारियों ने कहा है कि गर्म हवाओं के लगातार बहने से लोगों पर इसका खासा असर पर रहा है। मौसम विज्ञानियों ने कहा है कि पूरे उत्तरी क्षेत्र में मौसम सूखा है, लिहाजा लू के लगातार बने रहने की संभावना है। दिल्ली समेत उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में भी भीषण गर्मी है। हरियाणा के हिसार कस्बे में शुक्रवार को सामान्य से पांच डिग्री अधिक यानी 45 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार इस इलाके में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के ऊपर बना रहेगा।

चंडीगढ़ में गुरुवार को सामान्य से छह डिग्री अधिक यानी 42 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। लगातार तीसरे दिन तापमान के 43 डिग्री सेल्सियस पर बने रहने के कारण उत्तर प्रदेश के ज्यादातर हिस्से लू की चपेट में आ गए हैं।
मध्य प्रदेश में भी लोग गर्मी से खासे परेशान हैं। गर्म हवा के थपेड़ों ने लोगों का घऱ से निकलना मुश्किल कर दिया है। प्रदेश में गत एक सप्ताह से गर्मी का कहर जारी है। यहां दोपहर होते-होते शहर की सड़कें सूनी हो जाती हैं। इसका असर आम नाव पर भी पड़ रहा है।

चिलचिलाती धूप और गर्म हवा के चलने की वजह से राजस्थान का हाल और भी बुरा है। गुरुवार को पिलानी शहर में तापमान 47.1 डिग्री दर्ज किया गया था। इस गर्मी का असर स्टेशन शिमला में देखा जा रहा है। यहां का तापमान 29 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान शिमला के निम्नतम तापमान में 10 डिग्री की बढ़ोतरी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *