पलायन

चलो ना माँ अपने घर, जो घर “अपना” है

सारे कश्मीरी पंडितो के घर के दरवाजो पर नोट लगा दिया जिसमें लिखा था, “या तो मुस्लिम बन जाओ” या “कश्मीर में अपनी बहु, बेटियों को छोड़ कर भाग जाओ या फिर मरने के लिए तैयार हो जाओ”।