महर्षि दयानन्द

“महान ईश्वर व उसकी मत-मतान्तरों में फंसी अज्ञानी व अन्धविश्वासी सन्तानें”

मनमोहन कुमार आर्य,  वेदों का सत्य स्वरूप व गुण, कर्म, स्वभाव का ज्ञान मत-मतान्तरों के

‘हमारे श्रद्धास्पद विद्वान मित्र डाॅ. कृष्ण कान्त वैदिक और उनका संक्षिप्त परिचय’

मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून में सम्प्रति अनेक ऋषि भक्त विद्वान एवं विदुषियां हैं जो अपने

“ईश्वर हमें अन्धकार से हटाकर ज्ञानरूपी प्रकाश को प्राप्त कराये”

–मनमोहन कुमार आर्य, जीवात्मा और परमात्मा का व्याप्य-व्यापक सम्बन्ध है। जीवात्मा में ईश्वर व्यापक है

‘ईश्वर का अवतार क्यों नहीं होता?’

मनमोहन कुमार आर्य ईश्वर क्या है? ईश्वर एक सच्चिदानन्दस्वरुप, सर्वशक्तिमान, निराकार, सर्वज्ञ, सर्वव्यापक, सर्वान्तर्यामी, अनादि,