विश्व पर्यावरण दिवस

जैव-विविधता प्रकृति की स्वभाविक संपत्ति है इसका क्षय प्रकृति का क्षय

अवधेश कुमार सिंह पर्यावरण, मानव जीवन का अभिन्न अंग है, इसके बिना स्वस्थ जीवन की कल्पना भी नहीं की जा...

पर्यावरण में युद्ध स्तरीय सुधार की जरुरत

डा. राधेश्याम द्विवेदी वर्तमान समय में वायु, जल, मिट्टी, तापीय, विकरणीय, औद्योगिक , समुद्रीय , रेडियोधर्मी, नगरीय प्रदूषण, प्रदूषित नदियाँ...

विश्व पर्यावरण दिवस : निर्वाह परंपरा का

डॉ. राजू पाण्डेय 1972 में हुई यूनाइटेड नेशन्स कांफ्रेंस ऑन द ह्यूमन एनवायरनमेंट के प्रथम दिवस को संयुक्त राष्ट्र संघ...

5 जून: विश्व पर्यावरण दिवस

डा. राधेश्याम द्विवेदी विश्व पर्यावरण दिवस संयुक्त राष्ट्र द्वारा सकारात्मक पर्यावरण कार्य हेतु दुनियाभर में मनाया जाने वाला सबसे बड़ा...

22 queries in 0.349