बीसीसीआई तो देखे केवल धन

Posted On by & filed under खेल जगत

शशांक शेखर सोमवार का दिन कट्टर क्रिकेट प्रेमियों के लिए एक उत्सव की तरह रहा जब बीसीसीआई ने दिसंबर में चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान के विरुद्ध तीन एक दिवसीय और दो टी20 मुकाबले होने की पुष्टी की। पाकिस्तानी कप्तान मिसबाह उल हक ने भी इस फैसले पर खुशी जाहिर की। एक तरफ जहां दोनो मुल्कों के… Read more »

व्यंग्य ; क्रिकेट के नायक और खलनायक – राजकुमार साहू

Posted On by & filed under खेल जगत, व्यंग्य, साहित्‍य

इतना तो है, जब हम अच्छा करते हैं तो नायक होते हैं। नायक का पात्र ही लोगों को रिझाने वाला होता है। जब नायक के दिन फिरे रहते हैं तो उन पर ऊंगली नहीं उठती और जो लोग ऊंगली उठाते हैं, उनकी ऊंगली, उनके चाहने वाले तोड़ देते हैं। नायक की दास्तान अभी की नहीं… Read more »

सचिन से महान हैं सहवाग

Posted On by & filed under खेल जगत

शादाब जफर शादाब दुनिया की हर मां अपने बच्चे को और दुनिया का हर बच्चा सचिन बनना चाहता है। वही हमारे देश में जब भी क्रिकेट की बात होती है सचिन और सुनील गावस्कर में कौन महान है सदैव इस पर ही चर्च होती है। बात क्रिकेट के भगवान की होती है तो सब से… Read more »

कब रूकेगा भद्रजनों का अभद्र खेल?

Posted On by & filed under खेल जगत

राजेश कश्यप लंदन (इंग्लैण्ड) की साउथवर्क कोर्ट ने अगस्त, २०१० को प्रकाश में आए स्पॉट फिक्सिंग मामले की गहन छानबीन करने के बाद पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी सलमान बट और मोहम्मद आसिफ को दोषी ठहराया है। कोर्ट ने पाया कि सलमान बट के कहने पर ही मोहम्मद आसिफ ने नो बॉल फेंकी थीं। इसके… Read more »

मीडिया का क्रिकेट विश्व का सबसे बड़ा महा संग्राम -अब होगा लंका दहन ..?

Posted On by & filed under खेल जगत, मीडिया

विजय सोनी   भारत -पाकिस्तान का सेमी फाइनल क्रिकेट मैच मोहाली में खेला गया ,दोनों देशों के बीच खेले गए इस मैच,जिसे मीडिया ने दो देशों की सबसे बड़ी जंग तक कह दिया था को लेकर दुनिया की क्रिकेट प्रेमी जनता निगाहें टिकाये बैठी ,हार जीत को लेकर भी दावे -प्रतिदावे किये गए ,सट्टा बाज़ार… Read more »

लोकतंत्र का महा-उल्लास है क्रिकेट

Posted On by & filed under खेल जगत

जगदीश्‍वर चतुर्वेदी भारत ने 50 ओवरों वाला विश्वकप क्रिकेट टूर्नामेंट अपने नाम कर लिया है। इस टूर्नामेंट का कई मायनों में महत्व है। यह टूर्नामेंट क्रिकेट के साथ महानतम सामाजिक -राजनीतिक और आर्थिक भूमिकाओं के लिए भी हमेशा याद किया जाएगा। यह टूर्नामेंट मंदी के दौर में हो रहा था और इसने भारत के उपभोक्ता… Read more »

क्रिकेट में विजय का उन्माद

Posted On by & filed under खेल जगत

आशुतोष जीत का अपना खुमार होता है। भारतीय क्रिकेट टीम के विश्वचषक विजेता बनने के खुमार में पूरा देश झूम रहा है। 28 वर्षों बाद भारतीय टीम ने देश को यह सम्मान दिलाया है। देश ने भी भारतीय टीम को उसकी इस उपलब्धि के लिये सर-आंखों पर बिठाया है जो स्वाभाविक ही है। फरवरी माह… Read more »

भावनात्मक क्रिकेट : एक दृष्टिकोण

Posted On by & filed under खेल जगत

श्‍याम नारायण रंगा   भारत ने विश्वकप क्रिकेट का फाइनल मुकाबला जीत लिया है, इस बात की हमें बहुत खुशी है कि भारत ने आखिर एक खेल में तो अपना परचम फहराया और विश्व में सर्वश्रेठ होने की बात साबित की। मगर मैं अभी जो बात करना चाहता हूँ वो इस माहौल से थोड़ी हट… Read more »

क्रिकेट का भारतीयकरण या भारतीयों का क्रिकेटीकरण?

Posted On by & filed under खेल जगत

पवन कुमार अरविंद   मुम्बई के वानखेड़े स्टेडियम में 49वें ओवर की दूसरी गेंद पर महेंद्र सिंह धोनी के छक्का मारते ही देश भर में ‘इंडिया-इंडिया’ के नारे गूंजने लगे। चक दे इंडिया। कुछ लोगों ने ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए और कुछ ने ‘वंदेमातरम्’ की धुन भी गुनगुनाईं, और भी कई प्रकार… Read more »

क्रिकेट-अल्लाह और भगवान

Posted On by & filed under खेल जगत

निर्मल रानी   मोहाली क्रिकेट स्टेडियम में भारत ने पाकिस्तान पर 29 रनों से अपनी बढ़त बनाते हुए आखिरकार फतेह हासिल कर ली। भारत-पाक के बीच खेला गया विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट 2011का यह सेमीफाईनल मैच निश्चित रूप से अत्यंत रोमांचकारी रहा। भारत व पाकिस्तान दोनों ही देशों की टीमें चूंकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की सर्वाधिक… Read more »