लेखक परिचय

प्रवक्ता.कॉम ब्यूरो

प्रवक्ता.कॉम ब्यूरो

Posted On by &filed under कविता.


poetry 

 आम आदमी के लिए, कौन आम या खास।
तोड़ा है सबने सुमन, आम लोग विश्वास।।

आम आदमी नाम से, बना सुमन दल एक।
धीरे-धीरे खो रहा, अपना नित्य विवेक।।

दांव-पेंच फिर से वही, वही पुराना राग।
आम आदमी पेट में, सुमन जली है आग।।

बड़बोले, स्वारथ भरे, जुटे अचानक लोग।
आम आदमी का सुमन, भला मिटे कब रोग।।

वादे थे अच्छे सुमन, लोग लिया आगोश।
दिल्ली की गद्दी मिली, “आप” हुए मदहोश।।

Leave a Reply

1 Comment on "“आप” हुए मदहोश"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
Yogi Dixit
Guest
आप पार्टी के कुछ विशिष्ट लोगों की ओर मैं आपका ध्यान आकर्षित करना चाहूँगा. पहले पाठक ए जान लें कि अमेरिका का फ़ोर्ड फाउंडेशन क्या है? यह चैरिटी के नाम पर लोगों और प्रोफेशनल्स जिनका नीति निर्धारण में हाथ होता है, उनको फंडिंग करता है. चैरिटी के नाम पर अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में अमेरिकी प्रभुत्व की रक्षा करने का मुखौटा है. इसमें लेखक,इतिहासकार,पत्रकार,सामाजिक एक्टिविस्ट,मीडिया कंपनी,प्रकाशक आदि लोगों की फंडिंग होती है. फ़ोर्ड फाउंडेशन से फंडिंग प्राप्त करने वाले कुछ लोगों की सूची पाठकों के सामने रख रहा हूँ. अरविन्द केजरीवाल एवं मनीष सिसोदिया – एन जी ओ – कबीर मल्लिका साराभाई… Read more »
wpDiscuz