मंहगायी की अर्थी निकालने वाले भाजपायियों की भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुप्पी चर्चित

नगर भाजपा ने अध्यक्ष एवं पार्षद सुजीत जैन के नेतृत्व में मंहगाई की शवयात्रा निकाल कर विरोध प्रर्दशन किया। इस अवसर पर विधायक नीता पटेरिया,पालिकाध्यक्ष पार्वती जंघेला,जिला भाजपा अध्यक्ष सुर्दशन बाझल सहित कई प्रमुख नेता उपस्थित थे।नगर पालिका चुनावों की पूर्व संध्या पर ऐसे प्रदर्शन और आंदोलन होना कोई नयी बात नहीं हैं। यह तथ्य भी सही है कि इन दिनों आम आदमी भीषण महंगायी से त्रस्त हैं और रोजमर्रा की चीजें महंगी होने से अपने आप को ़गा सा महसूस कर रहा हैं। चुनावों के पहले नेताओं के लुभावने नारे और वायदे आम आदमी के वोट तो कबाड़ लेते हैं लेकिन उसके बाद उसे निरीह बना छोड़ ेते हैं और तमाम नेता सत्ता सुख भोगने में इतने मशगूल हो जाते है कि मुल्क के मालिको की उन्हें याद ही नहीं रहती हैं। ऐसा ही कुछ पिछले नपा चुनाव के दौरान हुआ था और मतदाताओं ने अत्याचार ना भ्रष्टाचार हम देगें अच्छी सरकार के नारे से प्रभावित होकर नागरिकों ने नगर पालिका की बागडोर भाजपा को सौंप दी थी। लेकिन वर्तमान पालिका का कार्यकाल भ्रष्टाचार के मामले में इतना अधिक चर्चित रहा हैं कि उसने पिछले तमाम रिकाड धराशायी कर दिये हैं। और तो और प्रदेश सरकार के ही निर्देश पर पालिका अध्यक्ष उपाध्यक्ष, मु.नपा अधिकारी सहित परिषद के सत्रह पार्षदों को पर से पृथक करने और चुनाव लड़ने के लिये क्यों ना अयोग्य कर दिया जाये? के कारण बताओ नोटिस दिये गये हें जिन पर फैसला होना अभी शेष हैं। महंगायी के विरोध में शवयात्रा निकालने वाले भाजपा नेता यदि इस भ्रष्टाचार के खिलाफ भी कुछ कारगरा कार्यवाही करने की मांग करते तो बात कुछ और होती अन्यथा चुनाव के समय यह सब कुछ तमाशा देखने के तो लोग आदी हो चुके हैं।
आशुतोष वर्मा सिवनी

Leave a Reply

%d bloggers like this: