Hindi Diwas

सत्ता की संकल्प-शक्ति से ही हिन्दी बनेगी राष्ट्रभाषा

        भाषा व्यक्ति-व्यक्ति के मध्य अथवा दो समूहों के मध्य केवल संपर्क का ही माध्यम नहीं होती। वह संपर्क से...

स्वाधीन चेतना की भाषा हिन्दी की उपेक्षा क्यों?

मनोज कुमार हिन्दी को लेकर भारतीय मन संवेदनशील है लेकिन उसका गुजारा अंग्रेजी के बिना नहीं होता है। सालों गुजर...

वाद, विवाद, अनुवाद की छाया से मुक्त हो हिन्दी पत्रकारिता

ऋतेश पाठक हिन्दी के सर्वप्रथम दैनिक उदन्त मार्तण्ड के प्रथम और अंतिम संपादक पंडित युगल किशोर शुक्ल ने लिखा था...

22 queries in 0.376