अनुज अग्रवाल

लेखक वर्तमान में अध्ययन रत है और समाचार पत्रों में पत्र लेखन का शौक रखते हैं |

यह तूफानी कार्यवाही का समय है योगी जी

गौतम बुद्ध नगर, गाज़ियाबाद, बुलंदशहर, आगरा, मेरठ, बरेली, लखनऊ सहित दर्जनों अन्य जिलों में माया सिंडिकेट के पास लाखों करोड़ की संपत्ति है और यही हाल मुलायम सिंडिकेट का है। मोदी सरकार और योगी सरकार दोनों को मिलकर इन दोनों सिंडिकेट की लूट के खिलाफ गहन जांच और कार्यवाही करानी होगी अन्यथा इनकी विश्वसनीयता और नीयत खतरे में पड़ जाएगी। यह सुखद है योगी आदित्यनाथ ने चीनी मिल घोटाले की जांच के आदेश दे दिए हैं और एन आर एच एम एवं यादव सिंह के खिलाफ जांच तेज हुई है

सरकार द्वारा 500 और 1000 की करेंसी के विमुद्रीकरण के उद्देश्यों के प्रभावी क्रियान्वयन हेतू कुछ और सुझाव / प्रतिवेदन

प्रतिष्ठा में, श्री नरेंद्र मोदी जी माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार नई दिल्ली – 110001 बिषय

अर्थक्रांति और राष्ट्रवाद की और देश

अनेक उच्च वर्गीय लोगो का कहना था कि मोदी के नोट वापसी के फैसले के बाद वे निराश हें और या तो काम करना बंद कर देंगे अथवा विदेश चले जायेंगे। मेरा उनसे कहना है कि अगर वो ऐसा करते हें तो इस देश पर अहसान ही होगा क्योकि वो देश में कमाते भी हें तो टैक्स चोरी कर कालाधन विदेश भेज देते हें या विदेशो से नकद में आयात कर देश के उद्योगों की कमर तोड़कर युवा पीढ़ी को बेकार कर रहे हें। कृपया अपने साथ लंपट नेताओ और नोकरशाहों को भी ले जाइयेगा और जल्द हमें बताइये कि किस देश में आप बिना कानून माने और टैक्स दिए बिना अय्याशी कर रहें हें।

ये तमाशे और हम

देश में एक तमाशा स्वदेशी के नाम पर चीनी सामान के विरुद्ध चल रहा है। चीन से कई लाख करोड़ के माल के आयातक हम और हमारी सरकार इस आयत को कम करने की कतई इच्छुक नहीं दिख रही हां जनता ने जरूर कई हज़ार करोड़ के चीनी माल के बहिष्कार का रास्ता खोल दिया। शायद सरकार जन भावनाओं को समझ कोई पहल करे।