अकबर

’’यदि हमारे गीत गाने से वैदिक धर्म का प्रचार न हो तो हमारा गीत व संगीत फेल है: प. सत्यपाल पथिक’’

-मनमोहन कुमार आर्य, वैदिक साधन आश्रम तपोवन देहरादून के शर्दुत्सव के चैथे दिन 6-10-2018 को

अकबर की 411वीं पुण्यतिथि 27 अक्टूबर

रियासतों के रूप में टुकड़ों टुकड़ों में टूटे हुए भारत को एक बनाने की बात हो, या हिन्दू मुस्लिम झगडे मिटाने को दीन ए इलाही चलाने की बात, सब मजहब की दीवारें तोड़कर हिन्दू लड़कियों को अपने साथ शादी करने का सम्मान देने की बात हो, या हिन्दुओं के पवित्र स्थानों पर जाकर सजदा करने की, हिन्दुओं पर से जजिया कर हटाने की बात हो या फिर हिन्दुओं को अपने दरबार में जगह देने की,