kisan andolan

किसान आंदोलन :: जातिवाद और राजनैतिक महत्वकांक्षा की पूर्ति का जरिया बना आंदोलन

भगवत कौशिक। पिछले आठ महीने से देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर तीन कृषि कानूनों के विरोध मे चल...

किसान आंदोलन :: बंजर हो चुकी राजनैतिक जमीन पर सत्ता की फसल उगाने के लिए अर्थहीन व स्वार्थ की लडाई लड रहे है वांमपंथी व राजनैतिक दल

भगवत कौशिक - पंजाब से निकलकर दिल्ली की सीमाओं तक पहुंचा किसान आंदोलन अब केवल किसान आंदोलन ना होकर राजनैतिक...

‘राजतंत्र’ को खुली चुनौती से कम नहीं 26 की ट्रैक्टर रैली….

पिछले दो माह से कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर किसान लगातार आंदोलित हैं। दांत किटकिटाने वाली ठंड...

आंदोलन में ‘उत्सव’ जैसा रसास्वादन, पिज्जा-बर्गर, चाय-कॉफी सब हाजिर

सुशील कुमार'नवीन' खाने को पिज्जा, लच्छा परांठा, तंदूरी नान,तवा नान, चिल्ला, डोसा वो सब हैं, जो मसालेदार खाने वालों को...

22 queries in 0.343