सुशासन के आइने में मोदी सरकार

Posted On by & filed under राजनीति

वीरेन्द्र सिंह परिहार सुशासन यानी कि अच्छा शासन, #कुशासन का, #भ्रष्टाचार का, #भाई-भतीजेवाद का अभाव। सम्प्रदाय, जाति, अपने-पराये के आधार पर कार्य न होकर समता और न्यायपूर्ण दृष्टि से सरकार के कार्य हों। नागरिकों को वाह्य एवं आंतरिक सुरक्षा प्राप्त हो, नागरिक लालफीताशाही, नौकरशाही के शिकार न हो। समाज में सबसे अंतिम छोर पर खड़े… Read more »

तीन तलाक,समान नागरिक संहिता और मोदी सरकार

Posted On by & filed under समाज

मुस्लिम महिलाओं की तरफ से समान नागरिक संहिता नहीं बल्कि एकतरफा तीन तलाक़, हलाला व बहुविवाह के खिलाफ आवाज उठायी जा रही है उनकी मांग है कि इन प्रथाओं पर रोक लगाया जाए और उन्हें भी खुला का हक मिले.

स्वच्छता अभियान और मोदी सरकार

Posted On by & filed under विविधा

पुराने समय में लोग खुले में शौच जाते थे तो अपने मल को खेत में मिट्टी से दबाकर आते थे इससे उत्तम ‘मल विनष्टीकरण’ का कोई अन्य ढंग नही हो सकता। इस क्रिया से मल की बदबू वातावरण में नही फैलती थी। पर मल मिट्टी के साथ मिलकर 24 घंटे में ही खाद बन जाता था, जिससे खेत की उत्पादन क्षमता बढ़ती थी। इसके अतिरिक्त आजकल शौचालय में जिन सीटों को हम बैठने के लिए प्रयोग करते हैं-उन्होंने हम सबको बीमार कर दिया है।

किसानों की हितैषी मोदी सरकार

Posted On by & filed under आर्थिकी, राजनीति

अंग्रेज़ों के दस्तावेज़ बताते हैं कि 1750 तक भारत की एक एकड़ भूमि पर इंग्लैंड की एक एकड़ भूमि की तुलना में 3 गुणा पैदावार होती थी! उस समय भारत में केवल चावल या धान की ही 1 लाख से ज्यादा किस्में थीं! 1760 तक भारत में सबसे संपन्न वर्ग किसानों का होता था इसीलिए… Read more »

मेादी सरकार की ऐतिहासिक पहल तीन योजनायें

Posted On by & filed under परिचर्चा

-मृत्युंजय दीक्षित- विगत नौ मई को कोलकाता मे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिन तीन योजनाओं प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना,जीवन ज्योति बीमा योजना और अटल पेंषन योजना को जनता व देष को समर्पित किया था उस समय स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्तमंत्री अरूण जेटली को भी यह विष्वास नहीं होगा कि यह योजनायें देश में… Read more »

मज़हब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना

Posted On by & filed under परिचर्चा

-तनवीर जाफरी- ‘नरेंद्र मोदी सरकार के एक वर्ष के शासनकाल में देश का अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय भय, आतंक, उपेक्षा तथा भेदभाव के वातावरण में रह रहा है’ -देश के अनेक राजनैतिक व सामाजिक विश्लेषकों के उक्त कथन को एक बार फिर उस समय बल मिला जबकि पिछले दिनों मुंबई के एक प्रतिष्ठित हीरा उद्योग से जुड़ा यह… Read more »

मोदी सरकार के एक वर्ष बनाम अच्छे दिन

Posted On by & filed under राजनीति

-वीरेन्द्र सिंह परिहार-     अब जब केन्द्र में मोदी सरकार का एक वर्ष का कार्यकाल पूरा हो चुका है। ऐसी स्थिति में ‘अच्छे दिन आ गए’ उस पर एक गहन समीक्षा की जरूरत है। जहां मोदी सरकार एवं भाजपा का दावा है कि ‘अच्छे दिन आए हैं,’ वहीं विरोधी दल मोदी सरकार को घेरने में… Read more »

आप क्यों चाहते हैं कि विरोधी भी करें मोदी-मोदी!

Posted On by & filed under जरूर पढ़ें

-संजय द्विवेदी- -भाजपा सरकार को राजनीतिक विरोधियों की आलोचना से घबराने की जरूरत नहीं- भारतीय जनता पार्टी और उसकी सरकार इन दिनों इस बात के लिए काफी दबाव में है कि उसके अच्छे कामों के बावजूद उसकी आलोचना या विरोध ज्यादा हो रहा है। भाजपा मंत्रियों और संगठन के नेताओं के इन दिनों काफी इंटरव्यू… Read more »

आशा जगाता मोदी का एक साल

Posted On by & filed under परिचर्चा

-सुरेश हिन्दुस्थानी- वर्तमान केंद्र सरकार की कार्यप्रणाली को देखकर यह सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक साल पहले जिस भ्रष्टाचार को मिटाने की बात कही थी, आज वह कम से कम केन्द्र सरकार के कामों में कहीं भी दिखाई नहीं देता। कहते हैं कि किसी अच्छे काम की… Read more »

पिछली सरकारों की तुलना में मोदी सरकार बेहतर

Posted On by & filed under राजनीति

-निर्भय कर्ण- 26 मई को नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में अपना कार्यकाल का एक साल पूरा कर लिया। इसी के साथ तमाम लोग मोदी सरकार के बीते एक साल के कार्यकाल की सफलता व असफलताओं का आकलन करने लगे। किसी ने मोदी को तानाशाह करार दिया तो किसी ने विकास का प्रतीक। लेकिन जहां… Read more »