गाय

राष्ट्रीय पशु गाय को मौज की मौत

मालूम हो कि केरल हाई कोर्ट ने युवक कांगे्रस के एक कार्यकर्ता द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए केन्द्र सरकार के आदेश  पर रोक लगाने पर हैरानी जताई। दूसरी ओर ंिहंगौनिया गोशाला मामले मे सुनवाई के दौरान राजस्थान हाई कोर्ट ने कहा है कि गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित कराने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाने चाहिए। कोर्ट ने यह भी कहा कि गोवंश की हत्या पर उम्रकैद की सजा का प्रावधान किया जाए। अभी तीन साल कैद की सजा का प्रावधान है।

गाय की रक्षा पर बहस क्यों ?

वास्तव में गाय को पर्यावरण संरक्षण से जोड़ने की बजाय राजनीति से जोड़ दिया गया है, जिसके कारण इसे जबरन बहस का विषय बना दिया गया. गाय सबके लिए उपयोगी है. इसलिए गाय पर बहस करने की बजाय इसके संरक्षण पर ध्यान देना चाहिए. सरकार को चाहिए कि वह सड़कों पर विचरती गायों के लिए गौशालाओं का निर्माण कराए.