दास्ताँ-ए-सियासत

Posted On by & filed under राजनीति

यूपीए में नंबर २ का गणित कहीं दिल न दुखा दे संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन में प्रणब के रायसीना हिल्स की ओर रुख करने के बाद प्रधानमंत्री के बाद कौन की जंग तेज़ हो गई है| पिछले हफ्ते सरकारी वेबसाईट से नंबर दो पर काबिज प्रणब का नाम क्या हटा, शरद पवार का नाम २ नंबर… Read more »

कांग्रेस पार्टी के यह ‘होनहार सलाहकार’

Posted On by & filed under राजनीति

निर्मल रानी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस देश के सबसे प्राचीन राजनैतिक संगठनों में है। 1885 में अपने अस्तित्व में आने से लेकर आज तक कांग्रेस पार्टी ही देश के सबसे बड़े राजनैतिक संगठन के रूप में अपना स्थान बनाए हुए है। देश की स्वतंत्रता से लेकर स्वतंत्रता के उपरांत देश पर सबसे लंबे समय तक शासन… Read more »

हार का सटीक विश्लेषण करे कांग्रेस

Posted On by & filed under राजनीति

सिद्धार्थ शंकर गौतम पांच राज्यों के चुनाव परिणामों ने कांग्रेस की संगठनात्मक क्षमताओं पर सवालिया निशान लगा दिए हैं। पंजाब तथा गोवा में जहां कांग्रेस को विपक्ष में बैठना पड़ रहा है वहीं उत्तराखंड में कांग्रेस अपेक्षानुरूप प्रदर्शन करने में नाकामयाब रही है। मणिपुर के चुनाव परिणाम ज़रूर कांग्रेस को थोड़ी राहत प्रदान कर सकते… Read more »

चक्रव्यूह की रचना स्वयं के लिए नहीं होती ….

Posted On by & filed under लेख

विनायक शर्मा सरकार एक बार पुनः अपने स्वयं के बुने हुए मकडजाल में उलझ कर रह गई है. लोकपाल बिल पर नेत्री मुख्य विपक्षी दल सुषमा स्वराज द्वारा प्रस्तुत किये गए सभी संशोधनों को अस्वीकार करते हुए लोकसभा में अपनी संख्या के बल पर एक कमजोर, अप्रभावी और विसंगतियों से भरे भ्रष्टाचार से लड़ने वाले… Read more »

कांग्रेस, अंधा बाटे रेवड़ी अपने अपनो को!

Posted On by & filed under राजनीति

शादाब जफर ‘शादाब’ कांग्रेस को लोग भ्रष्ट कहते है पर मेरा दावा है कि आज से मेरे इस लेख को पढकर न जाने कितने लोग कांग्रेस को भ्रष्ट कहना छोड़ देगे। क्योकि भाई कांग्रेस भ्रष्ट नही महाभ्रष्ट है, देश में जितने घोटाले कांग्रेस राज में हुए शायद ही किसी देश में किसी सरकार के टाईम… Read more »

आ ही गया राहुल के कंधों पर कांग्रेस का भार

Posted On by & filed under राजनीति

हालांकि यह पहले से ही तय था कि सोनिया गांधी जल्द ही राहुल पर पार्टी की बड़ी जिम्मेदारी डालेंगी, डाल भी दी थी महासचिव बना कर, मगर जैसे ही उन्हें किसी अज्ञात बीमारी का इलाज कराने के लिए विदेश जाना पड़ा, उन्हें चार दिग्गजों के कार्यवाहक ग्रुप का सदस्य बना दिया। समझा यही जा रहा… Read more »

बड़ें फैसलें लेने में जल्दबाजी ठीक नहीं

Posted On by & filed under राजनीति

 राजीव गुप्ता यूपीए – 2 इस समय अपने कार्यकाल के सबसे बुरे दौर से गुजर रही है ! सरकार जल्दबाजी और अपने गलत फैसलों के कारण संसद में रोज नए – नए मुद्दे लाकर समूचे विपक्ष समेत अपने सहयोगियों को भी अचंभित कर उन्हें विरोध करने के लिए मजबूर कर रही है ! इस बार… Read more »

हुड्डा क्या, अब तो कांग्रेस को ही जाना है हरियाणा से

Posted On by & filed under राजनीति

जगमोहन फुटेला  कांग्रेस और हरियाणा के मुख्यमंत्री दोनों ने वक्ती तौर पर अपने बचाव का इंतजाम कर लिया है. हुड्डा खुद तो क्यों ही जाएंगे. कांग्रेस भी उन्हें नहीं हटाएगी. क्योंकि फजीहत का फाईनल अभी बाकी है. प्रदेश अध्यक्ष फूल चंद मुलाना ने हिसार की नैतिक जिम्मेवारी कबूल ली है. इस्तीफे की पेशकश भी की… Read more »

जाने भी दो, पत्रकारो !

Posted On by & filed under मीडिया

जगमोहन फुटेला मैंने एक न्यूज़ चैनल पे देखा. सी वोटर के एग्जिट पोल के सहारे वो बता रहा था कि हिसार में अन्ना टीम के हक़ में फैसला आता है या कांग्रेस के ! ये अन्ना आन्दोलन की प्रशंसा है तो ठीक हैं. भक्ति है तो भी ठीक है और चमचागिरी तो तब भी उनकी… Read more »

राजीव गांधी की हत्‍या और सोनिया कांग्रेस

Posted On by & filed under राजनीति

डॉ. कुलदीप चंद अग्निहोत्री  तमिलनाडु विधानसभा में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया है कि राजीव गांधी के हत्यारों को फांसी न दी जाए। इस प्रस्ताव का करुणानिधि की डीएमके समर्थन करेगी ऐसा सभी को आभास था ही। चाहे एडीएमके दिल्ली में सोनिया कांग्रेस का समर्थन करती है और सोनिया कांग्रेस भी इसे अपना विश्वस्त… Read more »